मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जासं, ओबरा (सोनभद्र) : मध्य प्रदेश के सिगरौली जिले में स्थित लमसरई गांव से डाला स्थित वैष्णो मंदिर में दर्शन करके वापस जाते समय एक आटो में सवार महिला को बोलेरो सवार कुछ लोगों ने अगवा कर लिया। इस घटना से इलाके में हड़कंप मच गया। घटना जुगैल थाना क्षेत्र के गोठानी के समीप हुई। घटना की जानकारी डायल 100 को दी गई तो मौके पर पहुंची पुलिस ने मौका-मुआयना किया।

ग्रामीणों के मुताबिक मध्यप्रदेश के सिगरौली जिले में स्थित लमसरई से कुसुम पुत्री पुन्नी अपने परिजनों के साथ डाला स्थित वैष्णो मंदिर में दर्शन के लिए आई थी। दर्शन करने के बाद वह अपने गांव वापस आटो से जा रही थी। आटो में उसकी भाभी चैन कुमारी सहित करीना, सीता, पुजेरी भी थीं। आटो जब गोठानी के पास पंचायत भवन मोड़ पर पहुंची तो वहां पानी पीने के लिए चालक ने आटो को रोक दिया। उसी दौरान वहां एक बोलेरो पीछे से पहुंची। बोलेरो से उतरे लोगों ने कुसुम को जबरन बोलेरो में खीचने लगे। साथ में आई अन्य महिलाओं ने उसका विरोध किया लेकिन बोलेरो युवक महिला को ले जाने में कामयाब हो गए। आटो में मौजूद कुसुम की भाभी चैन कुमारी ने बताया कि घोरावल स्थित उसके ससुराल वाले ही कुसुम को शायद ले गए हैं। बताया कि 30 अप्रैल 2019 को ही उसकी शादी नीरज से हुई थी। वह दो बार ससुराल जा चुकी है। इस समय वह मायके में ही थी। वहीं से आज हम लोग दर्शन करने आए थे। बताया कि जाते जाते उन लोगों ने कहा कि कुसुम के माता पिता ने ही उसे ले जाने के लिए कहा है। बहरहाल इस अंदाज में हुई घटना को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। इस संबंध में सीओ भास्कर वर्मा ने बताया कि घटनास्थल पर परिजनों ने बताया कि उसे ले जाने वाले उसके ससुराल पक्ष के थे। वह अपनी सहमति से ही गई है। थोड़ा भय पैदा होने के कारण पुलिस को इसकी सूचना दे दी गई थी। अभी तक इस संबंध में कोई तहरीर नहीं पड़ी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप