जागरण संवाददाता, सोनभद्र : जिले में तीसरी बार दौरे पर आये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को राब‌र्ट्सगंज ब्लाक के बहुअरा गांव में तंत्र की सराहना करते हुए जनप्रतिनिधियों को सचेत किया। कहा कि जिले विकास के लिए केवल प्रशासन के भरोसे नहीं रहा जा सकता, जनप्रतिनिधियों को भी रूचि लेनी होगी। सकारात्मक सोच के साथ सामूहिक प्रयास करें और जिले को पिछड़ेपन से दूर करें। यहां विकास की अपार संभावनाएं हैं बस जरूरत है सही सोच के साथ सामूहिक प्रयास की। उन्होंने सोलर चुल्हा का शुभारंभ करने के साथ ही प्रधानमंत्री आवास व मुख्यमंत्री आवास के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र, एनआरएलएम से जुड़ी समूह की महिलाओं को पीको मशीन वितरित किया। इसके बाद मुसहर बस्ती का निरीक्षण किया।

सीएम ने पर्यटन को बढ़ावा को देने के लिए सोन टूरिज्म की ला¨चग किया और इसके बाद जनसभा को संबोधित किया। कहा कि सोनभद्र न केवल प्राकृतिक संसाधनों से परिपूर्ण है बल्कि पर्यटन की अपार संभावनाओं को समेटे है। जहां विकास की अपार संभावना हो और समय के साथ उसे विकास के रूप में बदलाव न करना ही पिछड़ेपन की वजह है। इसे सामान्य जनपदों की श्रेणी में लाने के लिए सभी को सामूहिक प्रयास करने की जरूरत है। शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि के विकास में काफी कुछ करने की जरूरत है। कहा कि अक्सर हम देखते हैं कि हर व्यक्ति की एक दूसरे की शिकायत करने की आदत सी हो गई है। शिकायत करने वाला व्यक्ति कभी आगे नहीं बढ़ता। हमें सकारात्मक सोच के साथ विकास कार्यों में सहभागी बनने की जरूरत है। जिले के विकास के लिए प्रशासन के भरोसे रहना ही ठीक नहीं है। जनप्रतिनिधियों को भी रूचि लेनी चाहिए। जिस तरह से बहुअरा गांव के विद्यालय को एमएलसी केदारनाथ ¨सह ने गोंद लेकर जिस तरह से सामूहिक प्रयास से चमकाया है। इस तरह से हर जनप्रतिनिधि को प्रयास करना चाहिए। इससे जिले का हर स्कूल बेहतर होगा। स्मार्ट क्लास का किया शुभारंभ : सोन कायाकल्प योजना के तहत बहुअरा प्राथमिक विद्यालय परिसर में बने एक कक्ष में सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्मार्ट क्लास का शुभारंभ किया। उन्होंने फीता काटा और अंदर कक्ष का जायजा लिया। स्मार्ट क्लास के संचालन का तरीका वहां मौजूद शिक्षा विभाग के अधिकारी से पूछा, इसके अलावा उन्होंने अंग्रेजी माध्यम के प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया। वहां स्कूलों से उनका नाम, पढ़ाई का तरीका आदि के बारे में पूछा। सोन फैब का शुभारंभ व निरीक्षण : पंडित दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना यानी एनआरएलएम के तहत गठित समूह की महिलाओं द्वारा बनाये गये कपड़ों की मार्के¨टग के लिए सोन फैब का शुभारंभ भी सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया। उन्होंने विद्यालय में लगी कैनोपी पर पहुचंकर वहां बनी कुर्ती के बारे में पूछा। इससे समूह की महिलाओं को रोजगार से जोड़ा गया है। सीएम ने जिला प्रशासन की इस योजना की तारीफ की। आंगनबाड़ी केंद्र व परिसर का निरीक्षण: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्राथमिक विद्यालय परिसर में ही बने आंगनबाड़ी केंद्र का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां बच्चों को मिलने वाले पोषाहार के बारे में पूछा। साथ मौजूद संबंधित विभाग के अधिकारियों को पुष्टाहार नियम के तहत वितरित कराने और कुपोषण को दूर भगाने के लिए कहा। विद्यालय में सोलर चूल्हा का शुभारंभ : आइआइटी मुंबई द्वारा डिजाइन किया गया सोलर चूल्हा का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। इस चूल्हा के बारे में आइआइटी मुंबई के प्रोफेसर चेतन ¨सह सोलंकी से इसके बारे में पूछा। बताया कि इससे घर के पांच सदस्य इस सोलर चूल्हे से खाना बनाकर खा सकते हैं। यह सोलर पैनल की मदद से धूप से चार्ज होगा तथा जल्दी ही ये जिले के सभी स्कूलों मे एमडीएम के खाना बनाने के लिए उपयोग किया जा सकता है। सीएम ने इसकी तारीफ की। उन्होंने कहा कि जल्द ही प्रदेश के सभी स्कूलों में व घरों में सोलर चूल्हा लागू हो सकता है। उद्घाटन के बाद बच्चों को सोलर स्टडी सौर ऊर्जा लैम्प का भी अपने हाथों से वितरण तथा सोलर ऊर्जा लैंप की स्टाल का निरीक्षण किया। इस दौरान आइआइटी मुंबई की तरफ उत्तर प्रदेश राज्य के परियोजना प्रबंधक शैलेंद्र द्विवेदी ने इस योजना के बारे में सीएम को बताया।

Posted By: Jagran