मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जासं, घोरावल (सोनभद्र) : घोरावल के उभ्भा गांव में भूमि कब्जा करने के दौरान हुए नरसंहार के बाद पीड़ितों के साथ ही गरीबों को सौगात देने की झड़ी लग गई है। उभ्भा के मृतकों व घायलों के परिजनों के साथ ही मूर्तियां व सपही के गरीबों को भी कल्याणकारी योजनाओं से नवाजा जा रहा है। नरसंहार की घटना के बाद ग्राम पंचायत मूर्तियां में चयनित 292 को आवास उपलब्ध कराने के लिए नींव की खोदाई रविवार से शुरू हो गई।

ग्राम पंचायत विकास अधिकारी अजय कुमार व तकनीकी सहायक उदित नारायण की अगुवाई वाली टीम रविवार की सुबह मुख्यमंत्री आवास की सूची लेकर ग्राम पंचायत मूर्तिया पहुंचे। सूची के अनुसार एक-एक लाभार्थियों के घर पहुंचे और जांच करने के बाद आवास बनाने के लिए भूमि का चयन किया। इसके साथ ही लाभार्थियों की मदद से चयनित भूमि पर आवास के लिए नींव की खोदाई का कार्य शुरू हो गया। बतादें कि भूमि पर कब्जा करने के दौरान 17 जुलाई को चलाई गई गोली से 10 अदिवासियों की मौत हो गई थी जबकि 28 से अधिक लोग घायल हुए थे। इस घटना के बाद शासन प्रशासन में हड़कंप मच गया था। इसके बाद पीड़ितों को मुआवजा देने के साथ ही केंद्र व राज्य सरकार से संचालित कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाने का क्रम जारी हो गया। इन गरीबों को आयुष्मान योजना के तहत गोल्डेन कार्ड की सौगात मिल चुकी है। अब उन्हें मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत सिर पर छत उपलब्ध कराने की कोशिश शुरू हो गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप