सीतापुर : कोविड टीकाकरण मामले में हरगांव व महोली सीएचसी जिले में टॉप पर आई हैं। इन सीएचसी के अधीक्षकों ने किस तरह लोगों को प्रेरित किया कि उनके यहां टीकाकरण का ग्राफ अन्य सीएचसी से बेहतर है। इस पर हरगांव व महोली सीएचसी अधीक्षकों से बातचीत-

हरगांव सीएचसी अधीक्षक डॉ. नीतेश वर्मा कहते हैं कि उनके अस्पताल क्षेत्र में कुल 123 गांव हैं। इन सभी गांवों को कुल 12 क्लस्टर में विभाजित किया है। प्रत्येक क्लस्टर में एक-एक स्वास्थ्य टीम लगी है। एएनएम व सुपरवाइजर भी लगाए हैं। स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी अनिल कुमार श्रीवास्तव व डॉ. रवि भार्गव भी गांवों में जा रहे हैं। हम लोग गांव में पहले वरिष्ठ जन को समझाकर उनका टीका कराते हैं। इसके बाद अन्य लोगों को टीका के लिए राजी करना आसान हो जाता है। अधीक्षक कहते हैं कि अभी तो हमारे यहां टीकाकरण का सामान्य अभियान चल रहा है। ब्लाक पायलट प्रोजेक्ट में नहीं शामिल है। वैसे यदि वैक्सीन की किल्लत न रहे तो हमारा प्रदर्शन और भी अच्छा हो। जरूरत के मुताबिक हमें वैक्सीन नहीं मिल पा रही है।

महोली सीएचसी अधीक्षक डॉ. इमरान का कहना है कि उन्होंने 15 क्लस्टर हमने बनाए हैं। हर क्लस्टर में एक-एक टीम और प्रभारी को लगाया है। निमचैना, सेमरावां, बगचन से शुरू कर अगले पंद्रह दिन में ननसोहा तक सभी गांवों को टीकाकरण से कवर करने का लक्ष्य तय किया है। शुरू में महमूदपुर व कुसैला में टीकाकरण बहुत कम था। इसलिए इन गांवों पर जोर दिया। अधीक्षक खुद गांव गए और वहां सबसे पहले कोटेदार को टीका लगवाया। फिर प्रधान, कोटेदार व आशा के साथ घर-घर संपर्क कर लोगों को टीकाकरण कराया है। कुसैला में 45 प्लस के 380 लोग हैं। इनमें 65 प्रतिशत लोगों को टीका लग गया है। अधीक्षक बताते हैं कि ग्रामीणों के बीच खुद जाने से उनमें भरोसा बढ़ता है। अधीक्षक कहते हैं कि उन्होंने सीएचसी पर टीकाकरण के लिए तीन बूथ बनाए हैं। यहां टीकाकरण के लिए आने वालों के बैठने को बढि़या इंतजाम किया है। रूम में पर्दे व पंखे लगवाएं हैं। 40 कुर्सियां हैं। तीनों बूथ पर 325-230 लोगों को रोज टीका लग रहा है। सीएचसी के बूथ पर चड़रा, कारीपाकर, हाजी फत्तेपुर व मैगलगंज तक के लोग टीका लगवाने आ रहे हैं। सीतापुर शहर से कई भाजपा नेता व अधिकारी भी टीका कराने आए हैं।

Edited By: Jagran