सिद्धार्थनगर : 48 घंटों के बारिश से नदियां बढ़ाव पर आ गई। घोघी खतरे के निशान को पार कर गई। इसका पानी 10 सेमी ऊपर बह रहा है। बूढ़ी राप्ती तेजी से लाल निशान की ओर बढ़ने लगी है। कूड़ा नदी का जलस्तर दूसरे दिन भी बढ़ाव पर रहा। जमुआर व तेलार नाला में पानी आया। बानगंगा के उफान में कमी आई। राप्ती का पानी धीमी गति से कम होने लगा है। मंगलवार को बारिश की रफ्तार थमी। दोपहर के बाद सूर्यदेव पूरे प्रखर के साथ बाहर निकले।

पांच दिन पूर्व लगे आषाढ़ मास के साथ ही मानसून ने भी दस्तक दे दिया। रविवार भोर से बादलों ने बरसना शुरू किया जो दूसरे दिन सोमवार शाम तक जारी रहा। रात होने के साथ ही आसमान खुल गया, लेकिन सुबह आसमान पर बादल छाए रहे। दोपहर तक रूक-रूक कर बारिश होती रही। उसके बाद सूर्यदेव बाहर निकल आए। दो दिनों के बारिश से घोघी नदी उफान पर आ गई। खतरे के निशान से दस सेमी ऊपर बह रही है। बूढ़ी राप्ती के जलस्तर में दो मीटर का उछाल आया। यह लाल निशान से 1.41 मीटर नीचे बह रही है। कूड़ा का पानी भी तेजी से बढ़ रहा है। बानगंगा का पानी नीचे उतरा। राप्ती घीमी गति से नीचे आया। जलस्तर के उठापटक को देखते हुए प्रशासन अलर्ट हो गया। नदी के जलस्तर व बांधों पर निगाह रखने का निर्देश जारी कर दिया गया है।

..

शोहरतगढ़ क्षेत्र में हुई सर्वाधिक वर्षा

स्थान बारिश मंगलवार बारिश सोमवार कुल बारिश

बानगंगा बैराज 5.00 मिमी 65.00 मिमी 120 मिमी

ककरही पुल 9.00 मिमी 65.02 मिमी 117.42 मिमी

बांसी पुल 31.60 मिमी 65.00 मिमी 132.40 मिमी ..

नदियों का जलस्तर

नदी जलस्तर (मंगलवार सुबह 8 बजे) जलस्तर (सोमवार शाम 4 बजे) रुझान खतरे का निशान

घोघी नदी लोटन पुल 87.10 86.200 बढ़ाव- 0.90 सेमी 87.000 मीटर

कूड़ा नदी उस्का रेलवे पुल 80.410 76.815 बढ़ाव- 3.595 सेमी 83.520 मीटर

बूढ़ी राप्ती ककरही पुल 84.240 82.240 बढ़ाव- 2 मीटर 85.650 मीटर

बानगंगा बैराज 91.20 92.60 घटाव- 1.40 सेमी 93.420 मीटर

राप्ती बांसी पुल 80.620 80.670 घटाव- 0.05 सेमी 84.900 मीटर

जमुआर नाला नौगढ़ पुल 82.15 81.32 बढ़ाव- 0.92 सेमी 84.89 मीटर

तेलार नाला सड्डा घाट 83.300 83.200 बढ़ाव- 0.10 सेमी 87.500 मीटर

..

घोघी नदी लाल निशान को पार कर गई है। बूढ़ी राप्ती का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। यह लाल निशान के पास पहुंच रही है। कूड़ा नदी भी बढ़ाव पर है। जमुआर व तेलार नाला का भी जलस्तर बढ़ रहा है। बानगंगा नदी घटाव पर है। राप्ती नदी भी धीमी गति से घटाव पर है। नदियों के जलस्तर पर निगाह रखा जा रहा है।

एमके रायजादा

सहायक अभियंता, ड्रेनेज खंड

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप