सिद्धार्थनगर : 29 मई को लखनऊ के कैंट इलाके में संगठन द्वारा निकाले जा रहे शांति मार्च पर पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज के विरोध में टीइटी उत्तीर्ण संघर्ष मोर्चा ने कलेक्ट्रेट परिसर में जमकर हुंकार भरी। उन्होंने मामले की जांच कराकर दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई किए जाने की मांग की। साथ ही प्रकरण में पुलिस ने जिन अभ्यर्थियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है, उसे वापस लिए जाने की मांग से संबंधित व मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा।

जिलाध्यक्ष शिवेश नाथ मिश्रा ने कहा कि जिस तरह से पुलिस ने बर्बरतापूर्ण कार्रवाई की है, वह शर्मनाक है। उसने अपने कृत्य को छिपाने के लिए 18 नामजद सहित 3000 अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा भी पंजीकृत कर लिया। यह न्याय संगत नहीं है। एक तरफ शासन वार्ता कर रहा है तो दूसरी ओर संगठन के कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया जा रहा है। सरकार को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुपालन में यथाशीघ्र बीएड, टीइटी 2011 की नियुक्ति प्रक्रिया पूर्ण करनी चाहिए। यदि उक्त समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो संगठन द्वारा व्यापक आंदोलन किया जाएगा। राकेश आर्य, सरफराज अहमद, राजेश जायसवाल, कमलेश पांडेय, रामानुज मणि त्रिपाठी, राम प्रताप विश्वकर्मा, आशुतोष श्रीवास्तव, अब्दुर्रहमान, पंकज जायसवाल, संतोष कुमार शुक्ल, अखिल कुमार, अर¨वद, संतोष, अनिल गुप्ता, संतोष भारती, अखिलेश यादव, अर¨वद मिश्रा, अनिल दूबे, विभा पांडेय, मनोज मौर्या, आकाश दूबे सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021