सिद्धार्थनगर : 12 संदिग्धों की खोज में केंद्रीय खुफिया एजेंसी लगी है, जो देश के विभिन्न क्षेत्रों में घूम रहे हैं। यह संदिग्ध कट्टरपंथी गतिविधियों को फैलाने में जुटे हैं। इनका संपर्क पापुलर फ्रंट आफ इंडिया से बताया जा रहा है। प्रदेश में भी पीएफआइ की गतिविधियां बढ़ी हैं। जौनपुर, प्रयागराज समेत अन्य जिलों में यह संगठन पांव पसार चुका है। रिपोर्ट के अनुसार इस्लामिक प्रचार-प्रसार के नाम पर युवा वर्ग को संगठन से जोड़ा जा रहा है। इन्हें पैसा व लग्जरी वाहन उपलब्ध कराने के बाद माड्यूल के रूप में विकसित करने की चर्चा है।

खुफिया रिपोर्ट में कहा गया है कि केरल के 10 से 12 लोग सीरिया गए थे। पापुलर फ्रंट आफ इंडिया के संबंध आतंकी गतिविधियों में लिप्त कई संगठनों से होने की आशंका है। धर्म के नाम पर नौजवानों को गुमराह करने की मुहिम चलाई जा रही है। टर्की देश के एक संगठन से संबंध होने के सबूत भी मिले हैं।

डुमरियागंज व इटवा तहसील क्षेत्र पर विशेष निगाह

स्थानीय अभिसूचना विभाग ने डुमरियागंज व इटवा तहसील क्षेत्र में निगाह गड़ा दी है। इस क्षेत्र में एकाएक कई लोग नव धनाड्य की श्रेणी में आए हैं। इनके काम-धंधे की किसी को जानकारी नहीं है। यह लोग बड़े पैमाने पर भूमि की खरीदारी भी कर रहे हैं। इसके अलावा सीमाई क्षेत्र से भी सूचनाएं एकत्र की जा रही हैं।

पुलिस अधीक्षक राम अभिलाष त्रिपाठी ने कहा कि खुफिया एजेंसियां हमेशा इनपुट भेजती रहती हैं। पुलिस इसे संज्ञान में लेकर कार्रवाई करती है। पीएफआइ से भी संबंधित इनपुट आया है। इसके लिए सभी थानों के साथ स्थानीय अभिसूचना विभाग को निर्देशित किया गया है।

Edited By: Jagran