सिद्धार्थनगर : खेसरहा क्षेत्र के बनुहिया, अकोल्ही, महनुआ, बन्हैती, कोईल पाकर गांव के सीवान में आग लगने से करीब ढाई सौ बीघा गेहूं की फसल जल कर राख हो गई्र। ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। घटना रविवार दोपहर बाद की है।

पहली घटना बनुहिया गांव के पूर्व और दक्षिण सिवान में अज्ञात कारणों से लगी आग में लगभग 40 बीघा गेहूं की फसल जल गई। इसमें जयप्रकाश राय, भोला राय, गिरिजेश राय, रामदेव राय की फसल शामिल है। जब तक दमकल की गाड़ी मौके पर पहुंची, तब तक ग्रामीणों ने आग पर काबू पा लिया था। दूसरी घटना अकोल्ही, महनुआ, कडजा गांव के सिवान में लगी आग से लगभग 100 बीघा फसल जल गई। तीसरी घटना घोसियारी क्षेत्र के बन्हैती, कोईल पाकर तथा संतकबीरनगर जनपद के एक गांव के सिवान में करीब 100 बीघा फसल जल गई। ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। शनिवार को भी बनकटा द्वितीय के सिवान में 10 बीघा तथा बतौरिया के सिवान में तीन बीघा गेहूं की फसल जल गई थी।

शार्ट सर्किट से गेहूं की फसल जली

शार्ट-सर्किट से गेहूं के खेत में आग लग गयी, जिससे बरगदवा, महदेवा, धुसरी बुजुर्ग, सेमरियावा गांव के बीच सिवान में खड़ी फसल जलकर राख हो गई। सूचना पर पहुंची फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने आग पर काबू पाया।

सिवान से 11 हजार की विद्युत आपूर्ति गुजरी है। दोपहर एक बजे के आसपास शार्ट सर्किट से बिजली की चिगारी खेत में गिर गई, जिससे कटे हुए डंठल में आग लगी। देखते ही देखते आग की लपटें खड़ी फसल में पहुंच गई। रामदेव गुप्ता का छह,रामचन्द्र का एक,डगरू का नौ, राजेन्द्र नौ बीघा व आदि किसानों के 50 बीघा गेहूं फसल जल गया है। अग्निशमन की टीम व गांव के युवकों के अथक प्रयास से आग को बुझाया गया।

ट्रांसफार्मर की चिगारी से लगी आग, फसल राख

तहसील अंतर्गत ग्राम महतिनिया के पश्चिम सिवान में लगे ट्रांसफार्मर की चिगारी ने तैयार खड़ी गेहूं की फसल को राख कर दिया। ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाया गया।

गांव के पश्चिम विद्युत विभाग ने ट्रांसफार्मर लगा रखा है। जहां से खेत निकट हैं। रविवार सुबह 10:30 बजे ट्रांसफार्मर से निकली चिगारी खेत में जा गिरी। गांव निवासी मोहम्मद इस्माइल पुत्र बहादुर का खेत धू-धू कर जलने लगा। आग की लपट इतनी तेज थी कि मानों पूरा सिवान ही जल जाएगा। ग्रामीणों ने आग पर काबू पाने के लिए काफी मशक्कत की, लेकिन तब तक एक बीघा फसल जलकर राख हो गई। मोहम्मद इस्माइल ने बताया कि बीते साल भी इसी खेत में आग लगी थी। ट्रांसफार्मर खेत मे लगा है। सिवान में फसल पककर तैयार होते ही ग्रामीण डरे रहते हैं। कई बार अधिकारियों से ट्रांसफार्मर हटाने को कहा गया, लेकिन सभी मौन हैं। अधिशासी अभियंता राममूरत ने कहा कि शीघ्र ही ट्रांसफार्मर अन्यत्र स्थापित करा दिया जाएगा।

Edited By: Jagran