श्रावस्ती : कंधे पर कांवर और ह्रदय में आस्था लेकर कांवरियों का सैलाब सुबह से ही विभूति नाथ मंदिर की ओर चल पड़ा। 'बोल बम..बम,बम' और 'हर-हर महादेव' के जयकारे लगाते हुए केसरिया परिधान में कांवरियों का रेला जब विभूति नाथ मंदिर की ओर बढ़ा तो ऐसा लगा कि सड़कों पर केसरिया सागर हिलोरें मारने लगा। हर कोई आगे बढ़कर सबसे पहले आपने आराध्य का जलाभिषेक करने को आतुर नजर आया। कभी हल्की बारिश, कभी बदली तो कभी तेज धूप के बावजूद भी इन श्रद्धालुओं के कदम नहीं रुके।

कजरी तीज पर्व पर सिरसिया के विभूतिनाथ मंदिर में भगवान शिव का जलाभिषेक करने के लिए नाचते-गाते कांवड़ियों का दल देखते ही बन रहा था। श्रद्धालुओं की आमद के मद्देनजर लक्ष्मननगर, भंगहा मोड़, खरगौरा मोड़, कलेक्ट्रेट, ईदगाह चौराहा, दहाना, अंटा तिराहा, गुलरा, चिल्हरिया, सिरसिया, बेचईपुरवा आदि स्थानों पर भंडारे का आयोजन किया गया था।

नगर पालिका अध्यक्ष अजय आर्य ने कांवड़ यात्रियों का स्वागत किया। कई स्थानों पर पानी के टैंकर व भंडारा किया जा रहा है। व्यापारी नेता राकेश गुप्ता, बाबा बैजनाथ सेवा समिति और बाबा जयगुरुदेव के अनुयायियों ने सेवादारी की।

इनसेट ===

सुरक्षा के व्यापक इंतजाम -

सिरसिया : विभूतिनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं की भारी आमद को देखते हुए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। डीएम व एसपी ने दौरा कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। चप्पे पर पुलिसकर्मी लगाए गए हैं। कांवड़ियों के भेष में पुलिसकर्मी चहल कदमी करते दिखे।

Posted By: Jagran