संवादसूत्र, श्रावस्ती : सूबे की राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बेसिक शिक्षा, बाल विकास पुष्टाहार, राजस्व एंव वित्त अनुपमा जायसवाल गुरुवार को श्रावस्ती पहुंची। हरिहरपुररानी ब्लॉक के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय सिसवा में उन्होंने विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। नौनिहालों का भविष्य सवांरने के लिए बेहतर ढंग से शिक्षण करने की अपील की।

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन योजना के तहत उच्च प्राथमिक विद्यालय सिसवा में राज्यमंत्री ने स्मार्ट क्लास का शुभारंभ किया। यहां प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूल के बच्चों में पाठ्य-पुस्तक, जूता-मोजा, यूनीफार्म व स्कूल बैग का वितरण भी किया। राज्यमंत्री ने कहा कि अंग्रेजी माध्यम के स्कूल शुरू किए गए हैं। स्मार्ट कक्षाएं संचालित की जा रही हैं। सरकारी स्कूलों को संसाधन संपन्न बनाया जा रहा है। ऐसे में गुणवत्तापूर्ण शिक्षण की अपेक्षा भी है। स्कूल चलो अभियान को ठीक ढंग से चलाएं और शत-प्रतिशत बच्चों का नामांकन सुनिश्चित कराएं। उन्होंने कहा कि एक भी बच्चा पढ़ने से छूटेगा तो उसका असर समाज पर दिखेगा। विद्यालय परिसर में स्थित आंगनबाड़ी केंद्र पर राज्यमंत्री ने गर्भवती महिलाओं की गोद भराई व बच्चों का अन्नप्राशन संस्कार भी कराया। उन्होंने प्रदेश सरकार के कार्यक्रमों का बखान किया। भाजपा अध्यक्ष शंकर दयाल पांडेय, महामंत्री रणवीर सिंह, एसडीएम भिनगा चंद्र मोहन गर्ग, पीडी राजेश कुमार जायसवाल, बीएसए ओमकार राणा, बीईओ हरिहरपुररानी अखिलेश यादव, जिला समंवयक अजीत कुमार उपाध्याय आदि मौजूद रहे। बिना साइज का बंटा जूता-मोजा

राज्यमंत्री से जूता-मोजा पाने के बाद उत्साहित बच्चे परिसर में बैठकर उसे पहनने लगे तो उन्हें निराशा हाथ लगी। बड़े बच्चों को साइज में छोटे तथा कई कम उम्र के बच्चों को बड़े आकार के जूते मिले थे। यह उनके पैर में फिट नहीं हो रहे थे। राज्यमंत्री ने बताया कि जूते साइज के नहीं होंगे तो उन्हें बदलवाया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस