श्रावस्ती : कजरी तीज (हरितालिका) पर्व के मद्देनजर पांडव कालीन विभूतिनाथ मंदिर में लगने वाले मेले की तैयारियां तेज हो चली हैं। आगामी 12 सितंबर को यहां विशाल मेला लगेगा। भगवान शिव के जलाभिषेक को एक दिन पूर्व ही पड़ोसी राष्ट्र नेपाल समेत आसपास के जिलों के भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां पहुंचेंगे।

भारी भीड़ के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न होने पाए, इसके लिए मंदिर प्रशासन अलर्ट है। डीएम दीपक मीणा व एसपी आशीष श्रीवास्तव ने मंदिर परिसर का भ्रमण कर तैयारियों का जायजा लिया। इन दिनों मंदिर की साफ-सफाई व रंग-रोगन कराया जा रहा है। पार्वती कुंड व शिव कुंड की साफ सफाई के साथ प्रकाश के भी उचित प्रबंध किए जा रहे हैं। महिला व पुरुष श्रद्धालुओं के लिए बैरिकेटिंग की जा रही है। मंदिर समेत परिसर में 15 स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। भारी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सिरसिया के निरालानगर, डगमरा नाला, कलकलवा, बेचईपुरवा, कन्हा, पटखौली, पैकौरी, बेटव्वा बाबा कुट्टी व मुख्य द्वार समेत 19 स्थानों पर बैरियर लगाए गए हैं। वाहनों को मेला परिसर से पांच किलोमीटर के दायरे में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मेला परिसर में दुकानें व झूले लगाए जा रहे हैं।

इनसेट ===

चप्पे-चप्पे पर मुस्तैद रहेगी पुलिस -

पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि मंदिर परिसर में पुलिस व पीएसी के जवानों के अलावा एसएसबी के जवान भी मुस्तैद रहेंगे। अराजकतत्वों पर नजर रखने के लिए कांवरियों के भेष में पुलिसकर्मी रहेंगे।

इनसेट ===

श्रद्धालुओं को नहीं होगी असुविधा -

चित्र-09एसआरटी17 व 18-

मंदिर के महंत शिवनाथ गिरि ने बताया कि श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न होने पाए, इसके पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। व्यवस्थापक चंदन गिरि ने बताया कि उचित प्रबंध किए गए हैं।

Posted By: Jagran