Move to Jagran APP

UP News: बड़े गोलमाल की ओर इशारा, लाखों खर्च होने के बाद भी क्यों नहीं सुधरी हैंडपंपों की सेहत?

Shravasti News दिकौली ग्राम पंचायत में लगे हैंडपंपों की हालत बदहाल है। बताया गया कि मरम्मत पर दो माह में एक लाख 77 हजार रुपये खर्च कर दिए गए लेकिन फिर भी हालात में सुधार होता नहीं नजर आ रहा है। गांव में लगे लगभग 12 हैंडपंप खराब पड़े हैं। ग्राम पंचायत एक हैंडपंप तो लगभग चार वर्षों से खराब पड़ा है।

By Bhoopendra Pandey Edited By: Aysha SheikhFri, 12 Jan 2024 03:42 PM (IST)
UP News: बड़े गोलमाल की ओर इशारा, लाखों खर्च होने के बाद भी क्यों नहीं सुधरी हैंडपंपों की सेहत?
UP News: बड़े गोलमाल की ओर इशारा, लाखों खर्च होने के बाद भी क्यों नहीं सुधरी हैंडपंपों की सेहत?

संसू, जमुनहा (श्रावस्ती)। गिलौला ब्लाक क्षेत्र के ग्राम पंचायत दिकौली में इंडिया मार्का-2 हैंडपंप मरम्मत पर दो माह में एक लाख 77 हजार रुपये खर्च कर दिए गए। इसके बाद भी ग्राम पंचायत में लगे हैंडपंपों की हालत बदहाल है। यहां अधिकांश हैंडपंप खराब पड़े हैं तो कई के पार्ट ही गायब हैं। ऐसे में यह खेल बड़े गोलमाल की ओर इशारा कर रहा है।

ग्राम पंचायत दिकौली में ग्राम प्रधान व ग्राम सचिव ने ग्राम पंचायत में विभिन्न स्थानों पर लगे इंडिया मार्का-2 हैंडपंप के मरम्मत के नाम पर आठ नवंबर 2023 को पांचवें वित्त आयोग से एक लाख 24 हजार छह रुपये का भुगतान किया। इसी प्रकार 13 दिसंबर 2023 को 15वां वित्त आयोग से 53 हजार एक रुपये हैंडपंप मरम्मत पर भुगतान किया।

कुल मिलाकर कितने रुपये हुए खर्च?

कुल मिलाकर एक लाख 77 हजार 12 रुपये खर्च किए गए। यह आंकडा ई- ग्राम स्वराज पोर्टल पर नजर आ रहा है। इतने रुपये खर्च होने के बाद भी गांव में लगे लगभग 12 हैंडपंप खराब पड़े हैं। इस ग्राम पंचायत के मजरा बभनचक की चमेला देवी ने बताया कि उनके घर के पास लगा हैंडपंप लगभग चार वर्षों से खराब पड़ा है।

रामसुंदर ने बताया कि उनके घर के पास लगा हैंडपंप दो वर्ष से खराब है। मुन्ना लाल बताते हैं कि घर के पास लगा हैंडपंप दो वर्ष से पानी नहीं उगल रहा है, लेकिन जिम्मेदारों की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय तथा आंगनबाड़ी केंद्र दिकौली के परिसर में लगा चार हैंडपंप कई वर्ष से गायब हैं।

दरगाह के पास स्थित रैन बसेरा के पास लगा हैंडपंप भी खराब है। कई हैंडपंप के उपकरण भी गायब हो चुके हैं। ग्राम विकास अधिकारी संदीप नायक ने भुगतान की पुष्टि करते हुए बताया कि खराब हैंडपंपों के मरम्मत करवाने के बाद ही भुगतान किया गया है। यदि कोई हैंडपंप मरम्मत से छूटा है, तो उसे भी ठीक करवा दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें -

Meerut News: मैडम को महंगी पड़ी डिजाइनर साड़ी, एक झटके में गंवा दिए डेढ़ लाख; ऐसे बनाया गया शिकार

UP Politics: 'सपा ने नफरत फैलाने के अलावा कुछ नहीं किया', बसपा ने की तीखे शब्दों की बौछार; मुस्लिम को वोट के लिए किया इस्तेमाल