जागरण संवाददाता, शामली : यमुना में हथिनीकुंड बैराज से शनिवार को 28 हजार क्यूसेक पानी ही छोड़ा गया। वहीं, यमुना का जलस्तर और कम हुआ है। इससे तटवर्ती गांवों के लोगों के चेहरे से ¨चता गायब हो गई है।

चार दिन पहले पहाड़ों में बारिश के चलते यमुना का जलस्तर बढ़ा था। करीब एक मीटर जलस्तर बढ़कर 229.90 मीटर तक पहुंच गया था। इससे कैराना और खादर क्षेत्र के लोगों को ¨चता सताने लगी थी। लेकिन, अब लगातार जलस्तर नीचे आ रहा है। साथ ही पहाड़ों में भी अधिक बारिश नहीं हो रही, जिससे फिलहाल पानी बढ़ने की कोई संभावना नहीं है। ड्रेनेज विभाग के एई अशोक कुमार ने बताया कि शनिवार को अधिकतम 4816 क्यूसेक पानी ही छोड़ा गया। ये सामान्य स्थिति है। अब तक बरसात के सीजन में एक बार ही यमुना खतरे के निशान यानी 231 मीटर से पार पहुंची है। शुक्रवार को 229.60 मीटर था जलस्तर, जो अब और कम हो गया है।

Posted By: Jagran