शामली, जेएनएन। जम्मू-कश्मीर में दर्ज एक मुकदमे में वांछित चल रहे आरोपित को एटीएस व जम्मू पुलिस ने शामली बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से दो मोबाइल भी मिले हैं। कैराना कोर्ट में पेश करने के बाद जम्मू पुलिस उसे अपने साथ ले गई। आरोपित पर दक्षिण जम्मू के थाना गंगयाल में आ‌र्म्स एक्ट समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज है।

शामली जनपद का नाम पिछले एक माह से आतंकी गतिविधियों को लेकर चर्चाओं में है। अब शामली का नाम जम्मू कश्मीर से हथियारों की तस्करी से जुड़ गया है। शनिवार सुबह एटीएस व जम्मू पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए कांधला निवासी युवक इजहार खान को रोडवेज स्टैंड से दबोच लिया। आरोपित को लेकर टीम नगर कोतवाली पहुंची। उस समय कोतवाली में डीएम जसजीत कौर व एसपी सुकीर्ति माधव समाधान दिवस में फरियादियों की समस्या सुन रहे थे। दोनों टीम के अधिकारियों ने एसपी से वार्ता की। कोतवाली में आमद दर्ज कराने के बाद दोनों टीम के अधिकारियों ने एकांत स्थान पर ले जाकर आरोपित से तीन घंटे पूछताछ की। सीएचसी में मेडिकल कराने के बाद जम्मू पुलिस आरोपित को अपने साथ ले गई। छापेमारी के दौरान एटीएस के साथ जम्मू पुलिस के डिप्टी एसपी पुरुषोत्तम कुमार, डीएसआइ कपिल सिंह वजीर, सिपाही सुरजीत साथ थे।

हथियारों की डिलीवरी से जुड़ा है मामला : पुलिस सूत्रों का कहना है कि आरोपित अपने भाई नूर मोहम्मद के साथ जम्मू में फलों का कारोबार करता था। आरोपित को वहां हथियारों की डिलीवरी होनी थी। वहां पकड़े गए हथियारों के सौदागरों ने आरोपितों का नाम बताया था। इसमें कितनी सच्चाई है, यह जम्मू कश्मीर पुलिस जाने, लेकिन चर्चा हथियारों की डिलीवरी को लेकर पुलिस महकमे में हो रही है।

इनका कहना है..

जम्मू पुलिस ने एक मुकदमे में फरार कांधला निवासी इजहार खान को गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ आ‌र्म्स एक्ट समेत कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज है। कैराना कोर्ट में पेश करने के बाद आरोपित का ट्रांजिट रिमांड लिया गया। इसके बाद आरोपित को जम्मू पुलिस अपने साथ ले गई।

-सुकीर्ति माधव, एसपी शामली।

Edited By: Jagran