शामली, जागरण टीम। सोमवार को सुबह करीब 10 बजे कस्बे के कुछ युवा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर कोरोनारोधी वैक्सीन का टीका लगवाने के लिए पहुंचे। पीएचसी में मौजूद नर्स ने उन्हें वैक्सीन लगाने के लिए मना कर दिया।

पीएचसी के फार्मेसिस्ट संजय मित्तल ने बताया कि प्रशासन द्वारा 18 से 44 वर्ष की आयु के लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए कुछ स्वास्थ्य केंद्र चुने गए हैं, जिसमें शामली के स्वास्थ्य केंद्र, विवि इंटर कालेज शामली, महिला पालिटेक्निक कालेज शामली, ऊन स्वास्थ्य केंद्र, कैराना शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से हमारे यहां 18 से 44 वर्ष तक की आयु के लोगों को वैक्सीन लगाने का कोई आदेश नहीं हुआ है। यह युवा बिना वैक्सीन लगवाए ही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से वापस लौट गए। मौके पर पहुंचे कस्बे के व्यापार मंडल के नगर अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा व उनकी टीम ने फार्मेसिस्ट संजय मित्तल से जानकारी ली। इसके बाद व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने गन्ना मंत्री सुरेश राणा से फोन पर वार्ता कर कस्बे में 18 वर्ष से अधिक के युवाओं को वैक्सीन लगवाने की मांग की। मंत्री ने आश्वासन दिया है। इस दौरान नगर अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा, संगठन मंत्री अंकित संगल, कोषाध्यक्ष ऋषभ जैन, धर्मेंद्र तोमर, राजीव तोमर, सुनील चौधरी, सचिन राणा, छोटा तोमर, अर्जुन, गौरव, अंकुर तोमर, प्रवीण, हर्ष पंवार, अनिकेत, शुभम व युवा व्यापार मंडल के पदाधिकारी मौजूद रहे।

323 लोगों के लिए सैंपल

संवाद सूत्र, कैराना : स्वास्थ्य विभाग की ओर से 323 लोगों के कोरोना सैंपल लिए गए।

ब्लाक कार्यक्रम प्रबंधक अतुल गर्ग ने बताया कि सोमवार को नगर के सीएचसी, गांव झाड़खेड़ी व गोगवान में सैंपलिग अभियान चलाया गया। इस दौरान 173 सैंपल एंटीजन किट से लिए गए, जिनकी जांच रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई। वहीं 150 सैंपल आरटीपीसीआर किट से लेकर जांच हेतु प्रयोगशाला भेज दिए गए हैं।

Edited By: Jagran