शामली, जेएनएन।

लगभग पांच माह पहले ससुरालियों द्वारा एसपी के गोपनीय कार्यालय में तैनात सिपाही के साथ मारपीट प्रकरण में उसकी पत्नी की शिकायत पर अधिकारियों ने उच्च स्तर पर जांच शुरू कराई है। लखनऊ से रविवार को एएसपी ने नगर में पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी ली। एएसपी पूरे मामले की छानबीन कर रहे है।

एसपी के गोपनीय कार्यालय में तैनात सिपाही अजय कुमार माजरा रोड पर सरकारी आवास में अपने परिवार के साथ रहता था। पति-पत्नी में काफी समय से मनमुटाव चला आ रहा था। लगभग पांच माह पूर्व रात के समय दोनों में विवाद हो गया। आरोप था कि विवाद के बारे में पता चलने पर सिपाही के ससुराल वाले उसके आवास पर आए थे। तब वहां मारपीट हो गई थी। इस दौरान सिपाही के सिर में चोट आयी। घायल सिपाही ने रात में ही नगर कोतवाली पहुंच कर शिकायत की। इस मामले में पुलिस ने ससुराल पक्ष के लोगों के खिलाफ एनसीआर दर्ज कर ली थी। सिपाही का मेडिकल कराया गया था। बताया गया कि एक बार मेडिकल कराने के बाद सिपाही ने दोबारा सिर में दर्द बताकर सिटी स्कैन कराया था। इस मामले में बाद में एनसीआर को मुकदमे में तरमीम किया गया था। सूत्र बताते है कि इस पूरे मामले में सिपाही की पत्नी ने पहले तो अधिकारियों और बाद में मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत की थी। इसके बाद अधिकारियों ने मामला गंभीर मानते हुए उच्च स्तरीय जांच शुरू कराई है। जांच पुलिस मुख्यालय में तैनात एएसपी मनोज अवस्थी को सौंपी गई है। वह रविवार को शामली शामली कोतवाली पहुंचे। उन्होंने कार्यवाहक कोतवाली प्रभारी रविद्र चतुर्वेदी से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने इस मुकदमे से संबंधित रजिस्टर व मुकदमें में लगाई धाराओं के बारे में जानकारी ली। यह भी जाना कि इस मामले में दर्ज एनसीआर की जांच पड़ताल किस दारोगा ने की। बाद में दर्ज हुए मुकदमे की किस दारोगा ने जांच की। दोनों के विवेचकों से बातचीत करने के बाद कुछ रिकॉर्ड कब्जे में लिया। बाद में एएसपी ने शामली सीएचसी में पहुंचकर सिपाही का मेडिकल करने वाले डाक्टर के बयान लेने का प्रयास किया लेकिन डाक्टर रविवार अवकाश होने के कारण मिल नहीं पाए। कोतवाली के कार्यवाहक प्रभारी ने बताया कि एएसपी ने सिपाही अजय के साथ मारपीट प्रकरण में जांच पड़ताल शुरू की है। दो दारोगाओं से इस मामले में जानकारी की है। मेडिकल करने वाले डाक्टर मिल नही पाए। अभी एएसपी नगर में ही ठहरे है। सीएमओ ने डाक्टर से मांगा स्पष्टीकरण

इस मामले में पता चलने पर सीएमओ संजय भटनागर ने सिपाही का मेडिकल करने वाले डाक्टर को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। जवाब मांगा है कि सिपाही का दो बार मेडिकल क्यों हुआ है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस