जेएनएन, शाहजहांपुर : यूरिया खाद से अवैध देशी शराब बनाने वाले दो लोगों को रविवार को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया। अवैध शराब देशी शराब ठेका के ठेकेदार ही मिलावटी शराब बनाकर, उस पर फर्जी बार कोड लगाकर बिक्री कर रहे थे। ठेकेदार व उसके साथी की पुलिस तलाश कर रही है।

क्षेत्र में अवैध शराब का कारोबार बड़े स्तर पर चल रहा है। शनिवार देर रात प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार सिंह, एसओजी प्रभारी रोहित कुमार सिंह ने लखनऊ-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित विष्णु वाटिका कालोनी के पास स्थित एक मकान में छापेमारी कर वहां अवैध शराब तैयार कर रहे दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। मौके से 602, पौव्वे अवैध देशी शराब, 45 पौव्वे अवैध मिश्रित देशी शराब, 2350 ढक्कन, 4280 रैपर, 1500 क्यूआर कोड, एक बाइक, एक कार, पैकिग मशीन, चार मोबाइल व दो किलो यूरिया खाद बरामद हुई। पकड़े गए लोगों ने अपना नाम शहर के चौक कोतवाली क्षेत्र के हुंडालखेल मुहल्ला निवासी विशाल यादव व अवनीश कुमार बताया। इसके अलावा चौक कोतवाली क्षेत्र के ही विसरात रोड निवासी अरुणेश कुमार व हुंडालखेल मुहल्ला निवासी गौरव गुप्ता की पुलिस तलाश कर रही है। पकड़े गए आरोपितों ने पुलिस को बताया कि गौरव गुप्ता की शराब की दुकान है। उनके कहने पर ही अवैध शराब तैयार करते थे। इसके लिए चार हजार रुपये हर माह उन्हें मिलते थे। कम होता था नशा

पकड़े गए आरोपितों ने बताया कि यूरिया पीसकर शराब तैयार की जाती थी। इससे नशा कम होता था जिस वजह से व्यक्ति खतरे से बाहर रहता था। इस शराब को ही देशी शराब के ठेकों पर भी सप्लाई किया जाता था। आबकारी विभाग के अधिकारियों से देशी शराब के ठेको पर जांच करने के लिए कहा गया है। ताकि यह पता चल सके कि अवैध शराब कहां-कहां सप्लाई हो रही थी। अन्य आरोपितों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

एस आनंद, एसपी

Edited By: Jagran