Move to Jagran APP

Tarsem Singh Murder : बाबा तरसेम सिंह की हत्या के बाद उत्तराखंड पुलिस के हाथ खाली, अब रुद्रपुर से खुटार पहुंची टीम

क्षेत्र के बिलंदापुर गांव निवासी बलजीत सिंह को वाट्सएप पर धमकी मिली थी। धमकी देने वाले ने खुद को प्रतिबंधित संगठन बब्बर खालसा का सदस्य बताया था। दो बार धमकी मिलने के बाद भी पुलिस काल तक ट्रेस नहीं कर पा रही। दो पुलिसकर्मी मंगलवार को बलजीत सिंह के घर भेजे गए थे लेकिन देर रात तक दोनों वापस चले गए।

By Ambuj Kumar Mishra Edited By: Mohammed Ammar Published: Thu, 04 Apr 2024 03:59 PM (IST)Updated: Thu, 04 Apr 2024 03:59 PM (IST)
Tarsem Singh Murder : बाबा तरसेम सिंह की हत्या के बाद उत्तराखंड पुलिस के हाथ खाली

जागरण संवाददाता, शाहजहांपुर : रुद्रपुर में डेरा कारसेवा प्रमुख बाबा तरसेम सिंह की हत्या प्रकरण में बुधवार को रुद्रपुर पुलिस खुटार में पहुंची। कुछ स्थानों पर लोगों से पूछताछ भी की गई। पुलिस टीम शाम तक क्षेत्र में कई जगह देखी गई। हालांकि पुलिस इस प्रकरण में पुलिस के अधिकारी अभी कुछ भी बोलने से बच रहे है। बाबा तरसेम सिंह की 28 मार्च की सुबह छह बजे नानकमत्ता में बाइक सवार दो शूटरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

पुलिस ने पंजाब के तरनतारन निवासी शूटर सर्वजीत सिंह और रामपुर के बिलासपुर निवासी अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टा समेत पांच लोगों पर मुकदमा दर्ज किया था। तब से पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कई जिलों में हत्यारोपितों की तलाश कर रही है।

पुलिस ने 30 मार्च को तिलहर क्षेत्र से एक मोबाइल सिम विक्रेता व अगले दिन बंडा के एक व्यक्ति को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। उन दोनों से पूछताछ के बाद बुधवार को फिर रुद्रपुर की पुलिस जिले में आई।

सुबह खुटार क्षेत्र में कई जगह पुलिस सादी वर्दी में देखी गई। इसके बाद पुवायां क्षेत्र में टीम चली गई। बताया जाता है कि हत्यारोपितों की मदद करने में जिले के कई अन्य लोग भी शामिल है। जिस तरह से रुद्रपुर की पुलिस ने जिले में दबिशें देना शुरू किया है उससे यह स्पष्ठ हो रहा है कि उस हत्याकांड से सीधा कनेक्शन यहां से भी जुड़ा है।

कॉल तक ट्रेस नहीं कर पा रही पुलिस

क्षेत्र के बिलंदापुर गांव निवासी बलजीत सिंह को वाट्सएप पर धमकी मिली थी। धमकी देने वाले ने खुद को प्रतिबंधित संगठन बब्बर खालसा का सदस्य बताया था। दो बार धमकी मिलने के बाद भी पुलिस काल तक ट्रेस नहीं कर पा रही। दो पुलिसकर्मी मंगलवार को बलजीत सिंह के घर भेजे गए थे लेकिन देर रात तक दोनों वापस चले गए।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.