जेएनएन, शाहजहांपुर: चाचा पर एक महिला ने बहन की हत्या का आरोप लगाया। पुलिस में सुनवाई नहीं होने पर उसने कोर्ट के माध्यम से मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस विवेचना में महिला जिदा मिली। पुलिस ने मामले में महिला और ग्रामीणों के बयान लिए हैं। जिसकी रिपोर्ट कोर्ट में सौंपेगी।

चौक कोतवाली क्षेत्र के मुहल्ला अजीजगंज निवासी सुरेंद्र की पत्नी रेनू ने बताया कि उसके पिता रेलवे में कर्मचारी थे। उनकी मौत के बाद उसकी छोटी बहन 25 वर्षीय संतोषी देवी को चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद पर नौकरी मिल गई थी। वह थाना सदर बाजार क्षेत्र के मुहल्ला एमनजई जलालनगर निवासी चाचा रमेश के साथ रहती थी। रेनू के मुताबिक अप्रैल 2019 में संतोषी कहीं लापता हो गई। वह नौकरी से भी अनुपस्थित चल रही थी। चाचा ने भी इस बारे में कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। उसने शक जताया कि संतोषी की हत्या कर चाचा ने शव कहीं गायब कर दिया है। सदर बाजार थाना पुलिस के सुनवाई नहीं करने पर उसने कोर्ट में न्याय की गुहार लगाई थी। कोर्ट के आदेश पर थाना सदर बाजार पुलिस ने रमेश के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया। रमेश ने बताया कि उसने थाना कांट क्षेत्र के गांव भित्तिया पौकी निवासी अवनीश से संतोषी की शादी कर दी थी। इंस्पेक्टर किरन पाल सिंह टीम के साथ बुधवार को गांव भित्तिया पहुंचे। वहां उन्हें संतोषी अवनीश के घर पर मिली। संतोषी ने बताया कि वह छह माह से ड्यूटी से अनुपस्थित चल रही है। पुलिस टीम ने महिला और गांव के करीब 10 लोगों के बयान लिए।

-------------

वर्जन: विवेचना में महिला जीवित पाई गई है। उसके और गांव वालों के वीडियो पर बयान लिए गए हैं। जिनको कोर्ट में रिपोर्ट बनाकर पेश किया जाएगा।

किरन पाल सिंह, इंस्पेक्टर थाना सदर बाजार

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस