बेहतर भुगतान पर रोजा, निगोही में 12 प्रतिशत रकबा बढ़ा

जेएनएन, शाहजहांपुर : गन्ना मूल्य का समय से भुगतान करने पर किसानों ने रोजा तथा निगोही चीनी मिल को गन्ना क्षेत्रफल (रकबा) वृद्धि का उपहार दिया है। दोनों चीनी मिल क्षेत्रों में 12 प्रतिशत क्षेत्रफल बढ़ गया है। जबकि भुगतान में कंजूसी करने वाली मकसूदापुर तथा तिलहर चीनी मिल का रकबा घट गया है। गुरुवार को जिला गन्ना अधिकारी ने सैंपल सर्वे के निरीक्षण व समीक्षा में चीनी मिल वार सर्वे के आंकड़े जारी किए। अपर मुख्य सचिव व गन्ना आयुक्त संजय भूसरेड्डी के निर्देश पर 20 अप्रैल को गन्ना सर्वे शुरू हुआ था। टीामें ने 83 गांवों का सैंपल सर्वे पूरा कर लिया। गुरुवार को जिला गन्ना अधिकारी डा. खुशीराम भार्गव ने सैंपल सर्वे का निरीक्षण किया। चीनी मिल निगोही के गन्ना पर्वेक्षक राजेश यादव के क्षेत्र में सर्वे कार्य को देखा। अपराह्न विकास परिषद वार गन्ना सर्वे की समीक्षा की। इस दौरान गन्ना विकास परिषद रोजा में 12 प्रतिशत, गन्ना विकास परिषद निगोही में 12.07 प्रतिशत गन्ना रकबा मे बढ़ोत्तरी पाई गई। जबकि गन्ना भुगतान में किसानों की उपेक्षा पर मकसूदापुर चीनी मिल क्षेत्र के पुवायां गन्ना विकास परिषद में 1.91 प्रतिशत, तिलहर मे 0.65 प्रतिशत गन्ना रकबा घटा है। लेकिन जनपद में छह प्रतिशत की औसत वृद्धि दर्ज हुई है। जो कि सकारात्मक संकेत हैं। आधार कार्ड सीडलिंग में सुधार का आह्वान गन्ना सैंपल सर्वे निरीक्षण के दौरान डीसीओ डा. खुशीराम ने सभी ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षकों को समय से सर्वे कार्य समाप्त करने के निर्देश दिये हैं। किसानो से सर्वे पर्ची प्राप्ति के साथ ही आधार नंबर, बैंक खाता संख्या ठीक कराने के लिए कहा। निरीक्षण के दौरान ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक सर्वेश कुमार, राम रहीस, जगदीश समेत नेम पाल, वेद प्रकाश, राम निवास जय सिंह आदि उपस्थित रहे। ओटीएस योजना दिसंबर तक बढी गन्ना सहकारी समिति से ऋण लेने वाले किसानों की सुविधा के लिए ओटीएस योजना के तहत सीमा को बढ़ा दिाय गया है। अपर मुख्य सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग संजय आर भूसरेड्डी किसानों को 22 दिसंबर तक योजना से लाभान्वित किए जाने के निर्देश जारी किए है। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत किसान मूलधन के बराबर धनराशि जमा कर कर्ज से मुक्ति पा सकते हैं। यह भी जानें 96 हजार हेक्टेयर था गत वर्ष गन्ना रकबा 6 प्रतिशत औसत गन्ना रकबा बढ़ा इस बार 1.80 लाख गन्ना किसान है जनपद में 75 प्रतिशत गन्ना मूल्या बकाया मकसूदापुर चीनी मिल पर 49 प्रतिशत गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं किया तिलहर चीनी मिल ने

Edited By: Jagran