- अवैध रूप से टिकट बेचने के दो आरोपित चढ़ चुके हत्थे

- खुद की आइडी से लंबी दूरी के टिकट बुक कर चल रहा था बिक्री का खेल

- आरपीएफ की सख्ती से अवैध कारोबार का हुआ भंडाफोड़, पहले भी हो चुकी कार्रवाई

फोटो: 12

जागरण संवाददाता, शाहजहांपुर :

अवैध रूप से टिकट बेचने वाले दो आरोपित गिरफ्तार करने के बाद आरपीएफ अब सरगना की तलाश में दबिश दे रही है। इसको लेकर आरपीएफ ने दो टीमें लगा रखी हैं।

शाहजहांपुर में पर्सनल आइडी से लंबीदूरी के टिकट बुक कर यात्रियों को बेचने का कारोबार काफी समय से चल रहा है। दो दिन पहले मामले की जानकारी आरपीएफ के कार्यवाहक प्रभारी निरीक्षक नरवीर सिंह व आदर्श वाजपेयी को लगी तो उन्होंने पूरे खेल का भंडा फोड़ करने के लिए टीमें लगा दी। पहले सोमवार देर रात कई स्थानों पर दबिश दी। आरपीएफ ने चौक कोतवाली क्षेत्र के सुनहरी मस्जिद के पास साइबर कैफे में छापेमारी की। जहां से राजन नाम के एक युवक को गिरफ्तार कर लिया। युवक के पास से कई टिकट भी बरामद हुए। उसको थाने लाकर रेलवे एक्ट में चालान कर दिया। मंगलवार को टीम ने सदर बाजार थाना क्षेत्र के खतूर वाली मस्जिद के पास दबिश देकर बंडा निवासी मुलायम सिंह को दबोच लिया। मुलायम के पास से आठ टिकट, प्रिटर, लैपटॉप आदि सामान बरामद कर लिया। आरपीएफ टीम मुख्य सरगना चौक कोतवाली क्षेत्र के दीपक गुप्ता की तलाश कर रही है। मंगलवार रात व बुधवार सुबह टीम ने कई स्थानों पर दबिश भी दी है।

------

दीपक खुद रहता था दूर

साइबर कैफे संचालक दीपक गुप्ता खुद की आइडी से तत्काल टिकट की बुकिग करता था, लेकिन कैफे पर काशीराम कालोनी निवासी अपने सहायक राजन के माध्यम से टिकट बिक्री कराता था। कई साइबर कैफे संचालक रडार पर

20 अगस्त को भी आरपीएफ ने लाल इमली चौराहे से साइबर कैफे पर दबिश देकर काफी संख्या में टिकट बरामद किए थे। जिसके बाद से ही कई साइबर कैफे रडार पर हैं। प्रत्येक टिकट पर तीन से चार सौ रुपये तक वसूले जाते थे। मामले में जो लिप्त हैं उन्हें पकड़ने के लिए टीमें लगी है। जल्द सभी सलाखों के पीछे होंगे।

-नरवीर सिंह, प्रभारी निरीक्षक, आरपीएफ

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप