जेएनएन, शाहजहांपुर : निराश्रित महिला पेंशन योजना घोटाले में जिला प्रोबेशन अधिकारी गौरव मिश्र ने भाजपा नेता समेत चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। इन पर धोखाधड़ी कर दस्तावेज तैयार कराने का आरोप है। डीएम इंद्र विक्रम सिंह के निर्देश पर हुई कार्रवाई से खलबली मच गई है।

जिला प्रोबेशन अधिकारी ने बताया कि जैतीपुर के अली अकबरदपुर नवादा व खिरिया मकरंदपुर ग्राम पंचायत के 27 लाभार्थियों के संबंधित ग्राम पंचायत का निवासी न होने व पात्रता की शत प्रतिशत शर्तें पूरी न होने के बावजूद पेंशन स्वीकृत कर दी गई थी। जब जांच कराई तो उसमें स्टेट बैंक कटरा के संदिग्ध खातों को एक ही बैंक मित्र चावर खास गांव निवासी सतीश चंद्र के जरिए खोल जाने की बात सामने आई। जबकि बैंक आफ बड़ौदा के अधिकांश संदिग्ध खातों के गवाहों में मुन्ना सिंह उनके भाई सरवेंद्र सिंह व वेदराम की गवाही मिली। प्रोबेशन अधिकारी ने चारों पर धोखाधड़ी कर बेईमानी की नियत से कूटरचित दस्तावेज तैयार कर आपराधिक कृत्य करने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी। जिसके आधार पर पुलिस ने सतीश चंद्र, मुन्ना सिंह, सरवेंद्र सिंह व वेदराम के खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली।

यह राजनीतिक षड़यंत्र है। मेरे खिलाफ लोग साजिश रच रहे हैं। मैं गरीबों का हमदर्द हूं। चुनाव जीत रहा हूं। विरोधी अपनी साजिश में सफल नहीं हो पाएंगे।

मुन्ना सिंह, भाजपा नेता

प्रोबेशन अधिकारी ने तहरीर दी थी। उसके आधार पर रिपोर्ट कर ली है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

अरविद सिंह चौहान, एसओ जैतीपुर

Edited By: Jagran