जेएनएन, शाहजहांपुर : डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने गुरुवार को पीएम स्वनिधि योजना से उपकृत महिला के ठेले पर टीम समेत छोटे भटूरे खाए। बोले, बहुत स्वादिष्ट बनाया है। इसके बाद महिला को दो हजार रुपये दिए। पति के निधन के बाद से कारोबार के साथ तीन बच्चों को संभाल रही विधवा के स्वावलंबन के लिए सराहना की।

सदरबाजार निवासी महेंद्र छोटे छोले-भटूरे व कचौड़ी का ठेला लगाते थे। तीन वर्ष पूर्व उनकी मौत हो गई। उनकी पत्नी रेनू ने कारोबार को संभाला। पीएम स्वनिधि योजना के तहत रेनू ने आवेदन किया था। डीएम ने दस हजार की आर्थिक मदद की। रेनू के सशक्तीकरण की चर्चा सुन गुरुवार को जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह, नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा, एडीएम प्रशासन रामसेवक द्विवेदी समेत टीम के साथ सदर बाजार पहुंचे। उनकी पारिवारिक स्थिति व बच्चों की पढ़ाई के बारे में पूछा।

घोड़ा घास से दोस्ती करेगा तो खाएगा क्या

डीएम जब रेनू को दो हजार का नोट देने लगे तो उन्होंने मना कर दिया। इस पर डीएम ने समझाया कि घोड़ा अगर घास से दोस्ती करेगा तो खाएगा क्या? डीएम ने गुणवत्तायुक्त व साफ सफाई की सीख देते हुए उन्हें रुपये थमाए।

अभी 20 हजार और देंगे

डीएम ने रेनू से कहा कि साल भर के भीतर ऋण चुकता कर देना, बीस हजार रुपये और दिया जाएगा। उन्होंने मौके पर लोगों से अन्य स्ट्रीट वेंडर्स को भी इसी तरह प्रोत्साहित करने को कहा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस