जागरण संवाददाता, शाहजहांपुर : नकली नोटों के सौदागरों ने बिहार को बिजनेस अड्डा बना लिया है। बिहार में सिर्फ भारतीय मुद्रा ही नहीं, आस्ट्रेलिया, ओमान, साउथ अफ्रीका की करेंसी भी बेखौफ छापी जा रही है। नकली नोटों के सौदागरों को पकड़ने में जुटी क्राइम ब्रांच टीम को दिल्ली के एक स्मगलर ने यह अहम जानकारी दी है। रोजा में 19 मार्च को लाखों रुपये के नकली नोट पकड़े जाने के बाद से ही क्राइम ब्रांच व एटीएस (एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड) स्मगलरों की धरपकड़ में जुटी है। पकड़े गए नकली नोटों के सौदागरों के मुताबिक, बरेली समेत पूरे रुहेलखंड, वेस्ट यूपी और दिल्ली में उनका नेटवर्क काम कर रहा है।

नकली नोटों के सौदागर खुफिया एजेंसियों की आंख में धूल झोंककर लाखों की फेक करेंसी बाजार में खपा चुके हैं। 19 मार्च को बिहार के दरभंगा जिले के रहने वाले दो युवकों से बरामद चार लाख रुपये की नकली करेंसी ने क्राइम ब्रांच की नींद उड़ा दी थी। एटीएस के सहयोग से क्राइम ब्रांच ने स्मगलरों के नेटवर्क को तलाशना शुरू किया तो बड़ा राज खुला। गिरोह से जुड़े दिल्ली के एक स्मगलर ने क्राइम ब्रांच को अहम जानकारी दी है। उसके मुताबिक, बिहार के दरभंगा जिले में भारत के अलावा आस्ट्रेलिया, ओमान, साउथ अफ्रीका समेत कई देशों की नकली करेंसी डंप की जा रही है। साथ ही उसे छापा भी जा रहा है। हालांकि, प्रिंटिंग सेंटर के स्थान की सही जानकारी अभी नहीं मिल सकी है। उसने ही दरभंगा में 12 करोड़ के नकली भारतीय नोट पड़े होने का सनसनीखेज खुलासा किया है। तस्कर ने दरभंगा में ऑपरेशन और नोटों की बरामदगी में जान का खतरा होने से भी पुलिस को आगाह किया है। सुराग हाथ लगते ही क्राइम ब्रांच सतर्क हो गया है।

नेटवर्क तक पहुंचेंगे

शाहजहांपुर : क्राइम ब्रांच के प्रभारी संजय कुमार सागर ने दिल्ली के स्मगलर द्वारा बिहार में कई देशों की करेंसी छापे और बेचे जाने की जानकारी मिलने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि दरभंगा में स्मगलरों ने अड्डा बना रखा है। पूरे ऑपरेशन के लिए जल्द ही आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। दिल्ली क्राइम ब्रांच के संपर्क में भी हम हैं।

अब तक पकड़े गए सौदागर

1-वर्ष 2008 में 83 हजार के नकली नोट के साथ महिला स्मगलर पकड़ी गई। साथ में दो लोग पीलीभीत के भी थे।

2-2010 में दो युवक पांच-पांच सौ के नकली नोट के साथ पुलिस के हत्थे चढ़े।

3-नवंबर 2012 में नवंबर माह में रोजा पुलिस ने दो स्मगलर 40 हजार रुपये के फेक करेंसी के साथ पकड़ा।

4-वर्ष 2012 में 13 नवंबर को आरबीआइ ने बैंक आफ बड़ौदा चेस्ट में फेक करेंसी पकड़ी।

5-वर्ष 2012 में नवंबर माह में जलालाबाद के युवक ने एसबीआइ के एटीएम से पांच सौ रुपये नकली नोट निकलने की शिकायत की।

6-वर्ष 2013 में 19 मार्च को चार लाख के नकली नोट बरामद किए।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट