Move to Jagran APP

Sant Kabir Nagar News: संतकबीरनगर में भूमि विवाद में युवक की गोली मारकर हत्या, गोलियों की तड़तड़ाहट से कांप गए लोग

जमीन के एक टुकड़े को लेकर इन्द्रजीत और धर्मेन्द्र के बीच पुराना विवाद चल रहा था। शनिवार की सुबह एक पक्ष उस भूमि पर मिट्टी डाल रहा था इसी को लेकर विवाद हो गया। रात में 28 वर्षीय धर्मेंद्र यादव पुत्र राम नयन यादव ने इसका विरोध किया। आरोप है कि दूसरे पक्ष के एक व्यक्ति ने धर्मेंद्र को तीन गोलियां मारीं जिससे उसकी मौत हो गई।

By Jagran News Edited By: Vivek Shukla Published: Sun, 09 Jun 2024 03:52 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 03:52 PM (IST)
जिला चिकित्सालय पर रोते बिलखते स्वजन। जागरण

 जागरण संवाददाता, संतकबीर नगर। खलीलाबाद कोतवाली क्षेत्र के महुई गांव में शनिवार की रात करीब आठ बजे भूमि विवाद को लेकर एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। मनबढ़ों ने तीन लोगों को तलवार से काटकर घायल कर दिया। घटना से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। गोलियों की तड़तड़ाहट से पूरा इलाका गूंज उठा।

घायलों को जिला अस्पताल लाया गया, जहां युवक को मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस अधिकारी भी अस्पताल पहुंच गए। आरोपित सेना के जवान बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि महुई गांव में जमीन के एक टुकड़े को लेकर गांव के ही इन्द्रजीत यादव और धर्मेन्द्र यादव के बीच पुराना विवाद चल रहा था।

शनिवार की सुबह एक पक्ष उस भूमि पर मिट्टी डाल रहा था, इसपर दूसरे पक्ष ने आपत्ति की। उस समय दोनों पक्ष मान गए। इसके बाद शनिवार की रात करीब आठ बजे विवादित भूमि पर ट्रैक्टर से मिट्टी डाली जा रही थी। 28 वर्षीय धर्मेंद्र यादव पुत्र राम नयन यादव ने इसका विरोध किया।

इसे भी पढ़ें-पीएम मोदी के मंत्रि‍मंडल में बांसगांव सांसद कमलेश पासवान को मिल सकती है जगह, लोकसभा चुनाव में लगाया है जीत का चौका

आरोप है कि दूसरे पक्ष के एक व्यक्ति ने धर्मेंद्र को तीन गोलियां मारीं। एक गोली उसके सिर में लगी, जिससे उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गई। वहीं दो गोली उसके हाथ और पेट में भी लगी। आरोपितों ने दहशत फैलाने के लिए कई राउंड फायरिंग की।

धर्मेंद्र के चचेरे भाई रिंकू ने बताया कि भाई को बचाने के लिए जब उसके पिता योगेंद्र यादव, भाई धर्मदेव यादव और चाचा बजरंगी यादव आए तो आठ से अधिक की संख्या में आरोपितों ने तलवार और अन्य धारदार हथियार से हमला बोल दिया।

इसे भी पढ़ें-10, 12 व 14 जून को निरस्त रहेगी छपरा-मथुरा-छपरा एक्सप्रेस, यहां देखें पूरा शेड्यूल

तीनों पर तलवार से कई वार किए, जिसके चलते वे सभी गंभीर रूप से घयाल हो गए। गोलियों की आवाज और चीख-पुकार सुनकर गांव के लोग मौके पर पहुंचे तो आरोपित धमकी देते हुए फरार हो गए। घायलों को गंभीर अवस्था में लेकर लोग जिला अस्पताल पहुंचे। घटना की जानकारी होते ही अपर पुलिस अधीक्षक शशि शेखर सिंह भी जिला अस्पताल पहुंच गए और स्वजन से मामले की जानकारी ली।

तनाव को देखते हुए गांव में कई थानों की पुलिस तैनात कर दी गई है। आरोपितों के बारे में बताया जा रहा है कि दो लोग सेना में हैं। इसके साथ ही उनके कुछ और सहयोगी भी घटना में शामिल थे। देर शाम तक पुलिस को तहरीर नहीं मिली थी। जिला अस्पताल पहुंचे एएसपी शशि शेखर सिंह ने कहा कि तहरीर मिलते ही केस दर्ज होगा। घटना में जो भी शामिल है, उसे हर हाल में सजा मिलेगी।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.