संत कबीरनगर : लॉकडाउन में किसानों का गेहूं घरों में पड़ा है। जिले को 49,500 मीट्रिक टन खरीद का लक्ष्य मिला था। अभी तक जिले में 15, 218 मीट्रिक टन ही गेहूं की खरीद हो पाई है।

शासन के निर्देश पर अधिकारी एजेंसियों से लक्ष्य पूरा करने का दबाव बना रहे हैं। हर दिन प्रशासनिक अधिकारी बैठकें कर खरीद की जानकारी जुटा रहे हैं। केंद्रों पर पहुंचकर रफ्तार और बढ़ाने का निर्देश दिया जा रहा है। शनिवार को जिलाधिकारी नवीन मंडी स्थल स्थित गेहूं खरीद केंद्र पहुंचे और व्यवस्था की जानकारी ली। जिम्मेदारों से जिलाधिकारी ने किसानों से अधिकाधिक खरीद करने को कहा।

धनघटा तहसील क्षेत्र के करनपुर साधन सहकारी समिति को गेंहू क्रय केंद्र बनाया गया है। यहां एक सप्ताह से बोरे उपलब्ध नहीं होने से खरीद ठप पड़ी है। गेहूं की बिक्री करने के लिए भटक रहे करनपुर निवासी दुर्गावती, मंझरिया निवासी राम किशोर, बैकुंठपुर निवासी दिग्विजय व हरीप्रसाद का कहना है कि क्रय केंद्र पर आने के बाद बोरे नहीं होने की बात कहकर लौटा दिया जा रहा है। सभी ने जिलाधिकारी से गेहूं खरीद नहीं किए जाने को लेकर क्रय केंद्र प्रभारी पर कार्रवाई करने की मांग की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस