संतकबीर नगर : कोतवाली खलीलाबाद के गौसपुर मोहल्ले में शनिवार की सुबह 11 बजे निर्माणधीन मकान के शौचालय के टैंक में डूबने से मासूम की मौत हो गई। घटना की सूचना पर पहुंचे मजदूरों ने बालक को टैंक को बाहर निकालकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस शव का पोस्टमार्टम करवा रही है।

महुली थानाक्षेत्र के मुखलिसपुर निवासी सुजीत कुमार यादव खलीलाबाद के गौसपुर में भूमि लेकर मकान बनवा रहे हैं। दो दिन पूर्व महुली थाना के बगल में रहने वाली शकुंतला उर्फ गुड़िया उनके मकान पर पहुंची और मजदूरी करने की बात करने लगी। सुजीत ने मकान निर्माण के कार्य के लिए उसे रख लिया। शनिवार की सुबह वह साढ़े नौ बजे पांच वर्षीय बेटे शिवा के साथ काम करने के लिए पहुंची और काम करना शुरू कर दिया। 11 बजे के करीब जब उसे अपना बेटा नहीं दिखा तो वह खोजबीन करना शुरू कर दी। उसे परेशान देख अन्य मजदूर भी उसे खोजने लगे। एक मजदूर ने देखा की निर्माणाधीन 10 फीट शौचालय के टैंक में उसके बेटे का शव पड़ा हुआ है। कोतवाली प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा रही है। महिला के पहले पति की मृत्यु के बाद उसने दूसरी शादी की है और खलीलाबाद में कमरा लेकर रहती है। उसने कोई तहरीर नहीं दी है। फंदे से लटका मिला विवाहिता का शव

संतकबीर नगर : धनघटा थानाक्षेत्र के लोचीपुर गांव में विवाहिता का शव शुक्रवार की देर रात उसके घर के टीन शेड के बल्ली में साड़ी के फंदे से लटका मिला। पड़ोसियों ने देखकर शोर मचाया तो ग्रामीण एकत्र हो गए। ग्रामीणों ने पुलिस को इसकी सूचना दी।

लोचीपुर निवासी पूनम पत्नी धर्मेंद्र गांव में दो और चार वर्ष के दो बच्चों के साथ रहती थी। उसके पति धर्मेंद्र हिमाचल प्रदेश में रहकर निजी कंपनी में नौकरी करते हैं। पड़ोसियों के अनुसार उसने भोजन बनाने के बाद बच्चों को खिलाकर सुला दिया। देर रात मां को पास नहीं देखकर बच्चे रोने लगे। बच्चों का रोना सुनकर पड़ोसी भी जगकर आ गए। इसी बीच घर के बगल टीन शेड में पूनम का शव फंदे से लटका मिला। उसने फांसी क्यों लगाई यह बात सभी केसमझ से परे है। इसे लेकर लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं। थानेदार अनिल दूबे ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है। देर शाम तक तहरीर नहीं मिली थी। गांव के लोग पति को सूचना दे दिए हैं, वह गांव के लिए निकल दिए हैं।

Edited By: Jagran