संतकबीर नगर : बेलहर विकास खंड का शनिवार को मनरेगा उपायुक्त (डीसी मनरेगा) उमाकांत त्रिपाठी ने जायजा लिया। मौके पर कई कर्मचारी मौजूद नहीं मिले, इस पर नाराजगी जताते हुए उपायुक्त ने स्पष्टीकरण तलब किया। तर्कसंगत स्पष्टीकरण नहीं मिलने पर उन्होंने कार्रवाई की चेतावनी दी।

उपायुक्त की जांच के दौरान खंड विकास अधिकारी अपने कक्ष में मौजूद मिले। तकनीकी सहायकों के कक्ष पर ताला लगा मिला। ब्लाक पर तैनात कर्मचारी घनश्याम गुप्ता, हेमंत कुमार, कन्हैया लाल, सिकंदर, महेंद्र, संतोष पासवान मौजूद नहीं मिले। कर्मचारियों के मौजूद नहीं रहने पर डीसी मनरेगा ने कड़ी नाराजगी जताते हुए सभी से स्पष्टीकरण मांगा। इसके बाद उन्होंने खंड विकास अधिकारी के साथ सभी ग्राम पंचायत अधिकारी व सचिवों के साथ आवश्यक बैठक की। आवास, सार्वजनिक शौचालय, पंचायत भवन, मनरेगा आदि कार्यों की समीक्षा की गई। मनरेगा उपायुक्त ने कहा कि जो भी कार्य अधूरे हैं उसे तेजी के साथ पूरा कराए जाएं। मनरेगा योजना में गाइडलाइन का पालन हो। मौके पर खंड विकास अधिकारी विनोद मणि त्रिपाठी, एडीओ पंचायत सभाजीत यादव, एपीओ सूर्य प्रकाश चौधरी, अनुज कुमार, देव प्रताप सिंह, देवेश कुमार गोस्वामी, बिपिन चंद्र यादव, पंकज कुमार सिंह, सुशील कुमार सिंह सहित अनेक ब्लाक कर्मी मौजूद रहे। बीडीओ ने निरीक्षण कर कर्मियों के कसे पेंच

संतकबीर नगर : नवागत खंड विकास अधिकारी हरि पूजन सिंह ने शनिवार को ब्लाक परिसर तथा सरकारी कर्मचारियों के आवास व एडीओ पंचायत कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कई लोग अनुपस्थित मिले। बीडीओ ने बैठक कर कर्मियों की पेंच कसने के बाद कहा कि इसके बाद यदि कोई कर्मचारी समय से कार्यालय में मौजूद नहीं मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने सभी को समय से कार्यालय में रहकर जनकल्याणकारी योजनाओं को पात्रों तक पहुंचाने को कहा।

बीडीओ ने एडीओ पंचायत कार्यालय के कर्मियों को अभिलेखों को सलीके से रखने के साथ ही साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिए जाने की बात कही। ब्लाक परिसर में जगह-जगह कूड़े करकट की ढेर तथा गंदगी को देखकर उन्होंने जिम्मेदार कर्मियों को फटकार लगाई। मौके पर लेखाकार प्रवीण कुमार यादव, जलील अहमद, एपीओ मदन गोपाल, शिवेन्द्र कुमार, इरसाद अली, राजकुमार, राम सूरत, लक्ष्मी नारायण आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran