खराब पड़े हैंडपंपों की मरम्मत में महकमा फेल

जागरण संवाददाता, धर्मसिंहवा, संतकबीर नगर : गर्मी का समय चल रहा है। इस समय लोगों को गला तर करने के लिए हैंडपंप का सहारा लेना पड़ रहा है। लेकिन धर्मसिंहवा क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर गड़े हैंडपंप खराब पड़े हैं। जिससे लोगों को मजबूरी में देशी हैंडपंप का सहारा लेकर दूषित पेयजल का सेवन करना पड़ रहा है। इससे लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। जल निगम खराब पड़े हैंडपंपों की मरम्मत की सुधि नहीं ले रहा है। इससे विभाग के कार्यप्रणाली पर बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है। लोगों को संक्रामक बीमारियों से बचाने के लिए स्वच्छ पेयजल का सेवन करने के लिए समय-समय पर जागरूकता अभियान चलाया जाता है। गांवों में जगह-जगह इंडिया मार्का हैंडपंप लगाए गए हैं। लेकिन पिछले कई वर्षों से सैकड़ों की संख्या में हैंडपंप खराब पड़े हैं, जिससे लोगों को स्वच्छ पेयजल के लिए भटकना पड़ रहा है। धर्मसिंहवा के सेवहा चौबे प्राथमिक विद्यालय परिसर में लगा हैंडपंप पिछले एक वर्ष से खराब है। इसके रिबोर व मरम्मत के लिए विकास विभाग के अधिकारियों ने अभी तक जल निगम को सूचित करना भी मुनासिब नहीं समझा। वहीं जमया आंगनबाड़ी केंद्र पर लगा हैंडपंप भी खराब है। लोगों को पानी पीने के लिए दूर जाना पड़ता है। स्थानीय लोगों ने कई बार तहसील दिवस में हैंडपंप की मरम्मत को लेकर प्रार्थना पत्र दिया लेकिन अभी तक हैंडपंप की मरम्मत नहीं हो सकी। स्थानीय लोगों का कहना है कि प्रत्येक गांव में कई हैंडपंप खराब पड़े हुए हैं, लेकिन मरम्मत के नाम पर जल निगम चुप्पी साध जाता है। मेंहदावल के एसडीएम योगेश्वर सिंह ने बताया कि हैंडपंप की मरम्मत के लिए जल निगम को निर्देश दिया जाएगा।

Edited By: Jagran