सरायतरीन: मंगलवार से आरंभ होनेवाले रमजान पर्व को लेकर सारी तैयारियां लोगों ने कर ली है। 30 दिनों तक चलने वाला यह पवित्र पर्व रमजान अल्लाह के इबादत का पर्व है। रमजान को लेकर बाजार भी सजने लगा है। मस्जिद के पास ही रमजान में उपयोग आने वाली सामग्रियों की दुकानें खुल गयी है। खजुर, टोपी, हेजाब, तस्बी, दस्तरखान, इत्र सहित अन्य चीजों की बिक्री शुरू हो गयी है। अल्लाह के प्रति अटूट भक्ति का प्रतीक रमजान को लेकर लोगों में उत्साह कायम है। मंगलवार से शुरू होनेवाले रमजान का पर्व यानि पहले रोजा की सेहरी सुबह 3.59 बजे होगी और इफ्तार का समय शाम 6.57 निर्धारित है।

आज यहां चांद देखने के बाद से ही मंगलवार से रमजान शुरू हो जाएगा। मस्जिद में पांचों वक्त की नमाज पढ़ी जाएगी। साथ ही तरावीह की नमाज भी शुरु हो जाएगी। लोगो ने रमजान का महीना शुरू होने से पहले ही पूरे महीने की जरूरत का सामान खरीद लिया ताकि रोजे की हालत में बाहर न भटकना पड़े और आप ज्यादा-से-ज्यादा वक्त इबादत में बित सकें। इनसेट....

- रमजान के महीने में इफ्तार के बाद ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं। दिन भर के रोजे के बाद शरीर में पानी की काफी कमी हो जाती है। मर्दों को कम-से-कम 2.5 लीटर और औरतों को कम-से-कम दो लीटर पानी जरूर पीना चाहिए।

- इफ्तार की शुरुआत हल्के खाने से करें. खजूर से इफ्तार करना बेहतर माना गया है। इफ्तार में पानी, सलाद, फल, जूस और सूप ज्यादा खाएं और पीएं. इससे शरीर में पानी की कमी पूरी होगी।

- सहरी में ज्यादा तला, मसालेदार, मीठा खाना न खाएं, क्योंकि ऐसे खाने से प्यास ज्यादा लगती है। सहरी में दूध, ब्रेड और फल सेहत के लिए बेहतर होता है। रमजान के महीने में ज्यादा-से-ज्यादा इबादत करें, अल्लाह को राजी करना चाहिए, क्योंकि इस महीने में हर नेक काम का सवाब बढ़ा दिया जाता है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran