जागरण संवाददाता, चन्दौसी: कोतवाली क्षेत्र में केनरा बैंक के एटीएम से सात लाख रुपये की चोरी होने के बाद यह तो लगभग तय हो गया है कि इस घटना में कोई न कोई एक्सपर्ट जरुर शामिल था। ऐसे में पुलिस ने उन एक्सपर्टों को चिन्हित करना शुरू कर दिया है जो पिछले दिनों नौकरी से निकाल दिए गए।

हालांकि तीसरे दिन भी पुलिस ऐसे किसी एक्सपर्ट को चिन्हित नहीं कर सकी है। जिससे आरोपितों को पकड़ा जा सके। इसी को देखते हुए एसपी ने एसओजी टीम को भी मामले का पर्दाफाश करने के लिए लगा दिया है।

मालगोदाम मार्ग पर लगे केनरा बैंक के एटीएम को तोड़कर रविवार को दिनदहाड़े सात लाख रुपये की नगदी चोरी कर ली थी। दिन दहाड़े हुई चोरी से पुलिस में हड़कंप मच गया था। फॉरेंसिक टीम ने भी मौके पर पहुंचकर नमूने लिए थे। इसके बाद पुलिस आरोपितों को पकड़ने में जुट गई थी। रविवार की रात पुलिस ने कुछ स्थानों पर दबिश देकर कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया था। जिनसे पूछताछ की, लेकिन इनसे पुलिस को कोई क्लू नहीं मिला। सोमवार को एटीएम के एक्सपर्ट और कैश लोडिग करने वालों को पुलिस ने बुलाया। उनसे चोरी कैसे की इस मामले में जानकारी की। इसके बाद यह स्पष्ट हो गया था कि इस घटना में कोई न कोई एक्सपर्ट जरुर शामिल है। ऐसे में पुलिस ने उन एक्सपर्ट को चिन्हित करना शुरू कर दिया है जो कुछ दिनों पहले ही नौकरी से निकाले गए है। वहीं तीन दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली होने के चलते एसपी यमुना प्रसाद ने एसओजी टीम को भी आरोपितों को पकड़ने के लिए लगा दिया है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक धर्मपाल सिंह ने बताया कि कुछ बिदुओं पर जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस