जेएनएन, सम्भल: हयातनगर थाना क्षेत्र में तेज रफ्तार अनियंत्रित कार ने सड़क किनारे खड़ी बोलेरो में टक्कर मार दी। इसके बाद कार ने सड़क किनारे बैठे लोगों को कुचल दिया, जिससे तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि छह लोग घायल हो गए। हादसे के बाद ग्रामीणों ने जाम लगा दिया। वहीं, सूचना मिलने पर एसडीएम व सीओ भी चार थानों की पुलिस के साथ मौके पर पहुंच गए और ग्रामीणों को समझा बुझाकर शांत कराया। वहीं, ग्रामीणों ने कार चालक को पकड़ लिया और उसकी धुनाई कर पुलिस को दे दिया। इस दौरान कुछ ग्रामीणों की पुलिस से नोकझोंक भी हुई।

थाना क्षेत्र के गांव रायपुर निवासी संतराम के बेटे विनोद की शादी सात मई को जनपद के गांव इसमपुर से हुई थी। ऐसे में घर में खुशी का माहौल था। शुक्रवार को विनोद के ससुराली जन उसकी बहू की विदा कराने के लिए आए थे। संतराम का घर सम्भल गवां रोड पर सड़क किनारे है। इस कारण कुछ रिश्तेदार व अन्य लोग वहां एक पेड़ के नीचे बैठकर बाते कर रहे थे, जिसमें से कुछ चारपाई पर बैठे थे तो कुछ उसके आसपास खड़े थे। वहीं पास में विदा कराने आए रिश्तेदार की बोलेरो भी खड़ी थी। ग्रामीणों ने बताया कि इसी बीच सम्भल की ओर से जा रही एक तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर वहां खड़ी बोलेरों से टकरा गई। उन्होंने बताया कि कार बोलेरो से टकराकर वापस सम्भल की ओर मुड़ गई और वहां पेड के नीचे खड़े लोगों को टक्कर मार दी। हादसे को देख वहां खड़े लोगों में खलबली के साथ चीख पुकार मच गई। कुछ ही देर में मौके पर काफी संख्या में लोग एकत्र हो गए। इसके बाद घायलों को कार के नीचे से बाहर निकाला, लेकिन तब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी थी और करीब छह लोग घायल थे। गुस्साए ग्रामीणों ने कार चालक को पकड़ लिया और उसकी धुनाई करना शुरू कर दिया। वहीं, हादसे की सूचना मिलने पर थाना पुलिस मौके पहुंच गई, लेकिन तब तक ग्रामीणों ने सम्भल गवां रोड पर जाम लगा दिया। हादसे में तीन लोगों की मौत व जाम की सूचना मिलने पर एसडीएम दीपेंद्र यादव व सीओ अरुण कुमार सिंह सम्भल, नखासा, रजपुरा व असमोली थाना पुलिस के साथ मौके पर पहुंच गए। जहां पर उन्होंने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। इस दौरान पुलिस की ग्रामीणों से नोकझोंक भी हुई। अधिकारियों द्वारा समझाने पर ग्रामीण शांत हुए और जाम खोल दिया। पुलिस ने मृतक रिकू (19) पुत्र संतराम, कल्लू (70) पुत्र लीलाधर, रामौतार (62) पुत्र ईश्वरी के शव को कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी। घायल अवस्था में गांव निवासी रामभरोसे, अमरपाल, देवेंद्र व अरविद को स्वजनों ने उपचार के लिए नगर के निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया। बेटे की मौत ने मातम में बदली शादी की खुशियां

सम्भल: गांव निवासी संतराम के बड़े बेटे विनोद की शादी सात मई को हुई थी। ऐसे में घर में सभी बहू के आने की खुशियां मना रहे थे। शुक्रवार को बहू के मायके वाले भी विदा कराने के लिए उसकी ससुराल में आए थे। घर में मेहमानों को चाय नाश्ते की तैयारी चल रही थी। लेकिन उन्हें क्या पता था कि कुछ ही देर में यह खुशियां मातम में बदल जाएंगी। हादसे में संतराम के बेटे व विनोद के छोटे भाई रिकू की मौत हो गई थी।

हादसे में तीन लोगों की मौत के साथ कुछ लोग घायल हो गए थे। शवों को कब्जे में लेकर कार्रवाई की जा रही है। घायलों को उपचार के लिए स्वजनों ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया है।

अरुण कुमार सिंह, सीओ सम्भल

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप