सम्भल: रमजान के महीने में नगरपालिका ने मुस्लिम बस्तियों व मोहल्लों में साफ सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए वादे किए थे लेकिन मस्जिदों के आसपास फैल रही गंदगी पालिका के वादे खोखले साबित कर रही है। शहर के मुख्य चौराहों के अलावा मंदिर, मस्जिदों के निकट कूड़े के ढेर लगे है। इसको लेकर अब लोगों में नाराजगी है। उनका कहना है कि पालिका कभी सफाई व्यवस्था पर ध्यान देना उचित नहीं समझती। जिसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

नगर पालिका ने भले ही रमजान के माह से पहले सफाई व्यवस्था को सुधारने के लिए कमर कसी हो लेकिन सफाई कर्मियों की यह लापरवाही लोगों को परेशानी का सबक बन चुकी है। शहर के मोहल्ला बरेली सराय, चामुंडा मंदिर के आस पास गंदगी का अंबार लगा है। इसके अलावा सरायतरीन के मोहल्ला दरबार स्थित मस्जिद व मोहल्ल बारहदरी स्थित मस्जिद के निकट भी गंदगी फैली है। मुस्लिम मोहल्लों के आसपास हो रही गंदगी से रमजान के दिनों में लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन पालिका साफ सफाई के लिए खुद की पीठ थपथपा रही है। जिसका खामियाजा रमजान रखने वाले लोगों को भुगतना पड़ेगा। रमजान का महीना अब शुरु होने वाला है। जिससे रमजान के महीने में लोगों को मस्जिद में नमाज पढ़ने जाने के लिए गंदगी का सामना करना पड़ सकता है। अभी तक पालिका ने न तो मुस्लिम मोहल्लों से गंदगी साफ कराई गई है, न ही मस्जिदों के पास पड़ी गंदगी को साफ कराया गया है। जबकि पालिका रमजान के दिनों में इन जगहों से गंदगी हटाकर साफ सफाई करने का वादा कर रही है। लेकिन पालिका के वादे हवाई साबित हो रहे है। जिससे लोगों को गंदगी के कारण परेशान होना पड़ रहा है। इसके अलावा आदमपुर रोड, चन्दौसी रोड पर भी विभिन्न स्थानों पर कूड़ा पड़ा है। जिससे लोगों को मुसीबतें उठानी पड़ रही है। शहर में मस्जिदों के आस पास व विभिन्न स्थानों पर सफाई कराई जा रही है। जल्द सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करा दिया जाएगा। जो भी सफाई कर्मी काम में लापरवाही बरतेगा, उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

दीपेन्द्र यादव, नगर पालिका ईओ व एसडीएम

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran