सम्भल: गुरुद्वारा श्री गुरुनानक दरबार में बुधवार को सिख धर्म के 10 वें गुरु श्री गुरु गोविद सिंह महाराज का प्रकाश पर्व बड़े उत्साह, भक्ति व श्रद्धा के साथ मनाया गया। प्रकाशोत्सव पर गुरुद्वारे में भोग भी अखंड पाठ साहिब व महान कीर्तन दरबार सजाया गया। साथ ही लोगों ने अटूट लंगर भी छका।

बुधवार को नगर के मुहल्ला कोट पूर्वी स्थित गुरुद्वारा श्री गुरुनानक दरबार में गुरु गोविद सिंह का 354 वां प्रकाशोत्सव धूमधाम के साथ मनाया गया। लोगों ने हरदास लगाई। उत्तम नगर (उत्तराखंड) से हाजिरी लगाकर संगतों को गुरुवाणी गुरु जी के जीवन पर युद्ध, संघर्ष, चार साहिबजादे, माता गुजरी जी के जीवन पर कथा, सबद सुनाकर निहाल किया। निशान साहिब के चोले की सेवा, आनंद साहिब के पाठ, अरदास नगर सुख शांति आपसी भाईचारे की ज्ञान किशन सिंह ने की। ऐसे महापुरुष, गुरु किसी एक धर्म, कौम, जाति के लिए नहीं आते हैं। वह तो समस्त मानव जाति के लिए हमारे बीच आते हैं। उन्होंने कहा कि सिक्ख इतिहास जाति पाति भेदभाव से ऊपर उठकर आते आपसी भाई चारे की मिशाल है। दीवान समाप्ति उपरांत गुरु का अटटू लंगर बरताया गया। जो सभी जाति वर्ग समप्रदाय की संगतों ने एक साथ मिल बैठकर छका। सामाजिक संगठनों की ओर से डॉ. अरविन्द गुप्ता, भाजपा जिलाध्यक्ष ओमवीर सिंह खड़गवंशी कार्यकर्ताओं के साथ गुरुद्वारा साहिब माथा टेका व गुरुद्वारा कमेटी की ओर से सम्मान प्रसाद प्राप्त किया। कोतवाली इंस्पेक्टर विकास सक्सेना ने पुलिस कर्मियों के साथ हाजिरी लगाई। जयबाबा अमरनाथ समिति के अध्यक्ष सतीश शर्मा, सुधीर गर्ग, राजेन्द्र गुप्ता, चन्द्रहास गंभीर ने भी दर्शन किए। सेवादारों में हरदीप सिंह, गुरजीत सिंह, सुरजीत सिंह, गुरविन्दर सिंह, दलजीत सिंह, कुलवीर सिंह, दौलतराम, मुन्नालाल, सतपाल सिंह, जसविन्द सिंह, गंगा विशन सिंह, हरज्ञान सिंह, सुरेन्द्रर सिंह, राम किशन, जस्सी, गगन मदान, महिला सुखमन सोसाइटी से सुरेन्द्र कौर, मोहन कौर, रितु गांधी, सोनिया मदान, करमजीत कौर, सुखविन्दर, सिमरन, अमनदीप, दीपमाला, संगतो को गुरु पर्व की लख लख बधाई दी गई।

मुस्लिम समुदाय के लोगों ने स्टाल लगाकर सौहार्द की मिसाल की पेश

जागरण संवाददाता, सम्भल: मुस्लिम समुदाय के लोगों ने सिख धर्म के 10 वें गुरु श्रीगुरु गोविद सिंह महाराज के 354 वें प्रकाशोत्सव पर गुरुद्वारा श्री गुरु नानक दरबार में कॉफी स्टाल लगाकर आपसी भाईचारे की मिशाल पेश की।मुस्लिम समुदाय के लोगों ने कहा कि सारा संसार ईश्वर का कुनबा है और समस्त मानव जाति का स्त्रोत एक ही है व हमारा ईश्वर की एक ही है। इस दौरान हीकम सुबहान, आजम एडवोकेट, सलमान रागिब, असद लोदी, अजीम एडवोकेट, मुहम्मद इमरान, इबने सऊद, मुहम्मद यामीन, उवैस, नातिम रजा सैफी, डॉ. रिजवान, काशिफ, जावेद आदि ने सेवाएं दी।

Edited By: Jagran