Move to Jagran APP

गर्मी की छुट्टी में पहाड़ घूमने का प्लान कर दें कैंसल, 30 जून तक सभी ट्रेनों में सीटें फुल; जनरल कोच में भी खड़े होने की नहीं जगह

Summer Holidays गर्मी की छुट्टियों में बाहर घूमने जाना है तो इस बार काफी मुश्किल होगी। आगामी 30 जून तक किसी भी क्लास में कोई सीट नहीं है। रेलवे स्टेशन पर बाहर जाने वाले यात्रियों की बेशुमार भीड़ के बीच जनरल में भी खड़े होने को जगह मिलनी मुश्किल हो रही है। इसके अलावा बसों में यात्रा करना फिलहाल बेहद कष्टकारक साबित हो सकता है।

By Raghvendra Chandra Shukla Edited By: Riya Pandey Sun, 02 Jun 2024 06:11 PM (IST)
दर्जनों ट्रेनों में 30 जून तक किसी भी क्लास में कोई सीट नहीं

जागरण संवाददाता, चंदौसी। Summer Holidays: गर्मी की छुट्टियों में बाहर घूमने जाना है तो इस बार काफी मुश्किल होगी। भीषण गर्मी और सभी ट्रेनें फुल चल रही हैं। आरक्षण की स्थिति यह है कि पूरे जून महीने किसी भी ट्रेन में सीट नहीं मिलने वाली।

रेलवे स्टेशन पर बाहर जाने वाले यात्रियों की बेशुमार भीड़ के बीच जनरल में भी खड़े होने को जगह मिलनी मुश्किल हो रही है। इसके अलावा बसों में यात्रा करना फिलहाल बेहद कष्टकारक साबित हो सकता है। चंदौसी से होकर जाने वाली अप-डाउन की एक दर्जन ट्रेनों कोई सीट खाली नहीं है।

30 जून तक किसी भी क्लास में खाली नहीं है सीटें

चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर एलके गौतम ने बताया कि आगामी 30 जून तक किसी भी क्लास में कोई सीट नहीं है। पहले से ट्रेनें फुल चल रही हैं। शनिवार को यहां से जाने वाली दादर एक्सप्रेस में सफर के लिए प्लेटफार्म पर दो घंटे पहले से ही इतनी भी जमा थी कि ट्रेन खाली भी आए तो भर जाए। हालांकि इनमें अधिकांश वही यात्री थे जो पहले ही अपनी सीट आरक्षित करा चुके थे।

यूं तो हर वर्ष जून की छुट्टियों में लगभग हर शहरी परिवार में घूमने का विचार बनता है। अधिकांश इसके लिए पहले सही तैयारी कर लेते हैं और महीनों पहले ही ट्रेन में रिजर्वेशन और होटलों की बुकिंग कर देते हैं। इस बार भी ऐसा ही हुआ है।

समर स्पेशल ट्रेनों की संख्या बढ़ाने के बाद भी खाली नहीं सीटें

हालात यह हैं कि समर स्पेशल ट्रेनों की संख्या बढ़ाए जाने के बाद भी पूरे जून महीने में चंदौसी से निकलने वाली किसी भी अप अथवा डाउन ट्रेन में सीट खाली नहीं है। जिनका विचार बाहर जाने के लिए हाल ही में बना है कम से कम यह लोग तो जून में ट्रेन की सुविधा का लाभ नहीं ले पाएगा। किसी भी क्लास में कोई सीट नहीं बची है। स्थिति यह है कि जनरल कोच में भी खड़े होने को जगह नहीं मिल पा रही है।

भीषण गर्मी के कारण लोगों का हाल बेहाल है। सभी हिल स्टेशन पर जाकर कुछ समय के लिए सुकून पानी चाहते हैं। ऐसे में लंबे सफर के लिए ट्रेन अच्छा कोई साधन नहीं, लेकिन उनमें जगह न होने के कारण निजी वाहनों का भी लोग प्रयोग कर रहे हैं, लेकिन यह और ज्यादा कष्टकारी साबित हो रहे हैं।

सबसे करीब नैनीताल और भीमताल को ही ले लें तो घंटों जाम और फिर कई किमी पहले पार्किंग की व्यवस्था उन्हें परेशानी में डाल सकती है। सामान्य बसों में यात्रा करना किसी सजा से कम नहीं है। बेचैन करने वाली गर्मी में बस का सफर बेहद कठिन हो रहा है। ऐसे में मजबूरी में ही लोग बसों का सफर कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- B.Ed JEE Entrance Exam: 9 जून को होनी है यूपी बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा, बदायूं में बनाए गए तीन केंद्र; देख लें ये गाइडलाइन