चन्दौसी: कोतवाली क्षेत्र में लूट के बाद दो महिला समेत तीन लोगों की हत्या में अभी तक पांचों टीमें खाली हाथ हैं। साक्ष्य एकत्र करने के लिए शनिवार को डॉग स्क्वाड को भी मौके पर बुलाया गया। तिहरे हत्याकांड में शक की सुई परिवार पर है। पुलिस ने केसर के बेटे से पूछताछ की है। हालांकि पुलिस अभी तक कड़ी से कड़ी जोड़ रही है।

नगर के मुहल्ला तेग बहादुर कालोनी निवासी व मूल निवासी महमूदपुर जनपद बुलंदशहर के स्व. इंस्पेक्टर सत्यपाल ¨सह के घर में घुसकर हत्यारों ने उनकी पत्नी संतोष, रिश्ते के देवर केसर निवासी शाहपुर जनपद बुलंदशहर और नौकरानी श्रुति पुत्री सीतारमन निवासी समस्तीपुर (बिहार) हाल निवासी गुड़गांव की लूट के बाद गला रेतकर हत्या कर दी थी। दो दिन तक शव घर के अंदर पड़े रहे। शुक्रवार रात नौ बजे जब रिश्तेदार अनुराग घर पहुंचे तो तीनों की हत्या होने की जानकारी हुई। शनिवार सुबह पुलिस फिर से पहुंची और डॉग स्क्वाड को बुलाया गया। एसपी ने मामले का पर्दाफाश करने और आरोपितों को तत्काल गिरफ्तार करने के लिए चन्दौसी कोतवाली के अलावा कुढ़फतेहगढ़, धनारी, हयातनगर, एसओजी समेत पांच टीम एएसपी के नेतृत्व में गठित कर दी। साथ ही सम्भल व चन्दौसी सीओ को भी टीम में शामिल कर दिया। कोई भी खुलकर बोलने को तैयार नहीं

भले ही पुलिस मामले को संपत्ति विवाद से जोड़कर देख रही हो, लेकिन खुलकर बोलने के लिए तैयार नहीं है। हत्या क्यों की गई, पुलिस के लिए अभी भी यह पहेली बनी हुई है कि हत्यारे कौन और हत्या करने का कारण क्या रहा? पोस्टमार्टम के बाद केसर के परिजन शव को अपने गांव ले गए तो नौकरानी श्रुति व संतोष के शव रिश्तेदार राजा का मझोला गांव में ले गए। एसपी यमुना प्रसाद ने बताया कि पांच टीमें पर्दाफाश के लिए लगाई हैं। कई बिंदुओं पर काम चल रहा है। हत्या के कारणों के साक्ष्य जुटाने के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। जल्द ही घटना का पर्दाफाश होगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप