सहारनपुर, जेएनएन। देवबंद में गाजियाबाद में एक वर्ग विशेष के बुजुर्ग व्यक्ति के साथ कुछ युवकों द्वारा मारपीट किए जाने की घटना पर उलमा ने रोष जताया है। कहा कि चुनाव से पूर्व इस तरह की घटनाओं को अंजाम देकर प्रदेश में सांप्रदायिक माहौल तैयार किया जा रहा है, जिसका राष्ट्रपति को संज्ञान लेना चाहिए।

दो दिनों से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें गाजियाबाद लोनी में एक बुजुर्ग के साथ कुछ युवक डंडे से मारपीट करते दिख रहे हैं। इस मामले में पीड़ित की तहरीर पर पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। फतवा आन मोबाइल सर्विस के चेयरमेन मुफ्ती अरशद फारुकी ने कहा कि वृद्ध अबदुल्ल समद को आटो रिक्शा से उतार उसके साथ मारपीट किए जाने की घटना मानवता को शर्मसार करने वाली है। इससे पूर्व भी धर्म विशेष के लोगों के साथ मारपीट और जबरन दूसरे धर्म के नारे लगवाने की घटनाएं हो चुकी है। लेकिन अब फिर से ऐसी घटनाएं चुनावी माहौल तैयार करने को अंजाम दी जा रही है। ऐसे षड्यंत्रकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। जमीयत दावतुल मुसलिमीन के संरक्षक कारी इस्हाक गोरा ने कहा कि उन्मादी लोगों द्वारा बुजुर्ग व्यक्ति से गैरमजहबी नारे लगवाना और मारपीट कर वीडियो वायरल करने का मकसद आपसी सद्भाव के माहौल को खराब करना है। राष्ट्रपति इस घटना का संज्ञान लेकर कार्रवाई करनी चाहिए।

कोविड-19 की लगवाई डोज

नानौता: युवा विकास ग्राम समिति के सहयोग से स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा कुंआखेड़ा गांव में शिविर लगाया गया है, जिसमे 45 वर्ष से अधिक आयु के 60 व्यक्तियों को कोविड-19 की पहली डोज लगाई गई। मंगलवार को आयोजित कैम्प में समिति के अध्यक्ष डा. अमरीश राणा द्वारा घर-घर घूमकर लोगों को वैक्सीन के के प्रति जागरूक करते हुए लोगों से वैक्सीन लगवाने की अपील की। इस दौरान आशाओं, संगिनी मितलेश देवी, गौरव राणा, पूर्व ग्राम प्रधान देवेंद्र सिंह, वसीम, अंशुल,नीरज राणा तथा महिपाल सैनी आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran