सहारनपुर जेएनएन। दस्त लगने पर परिजन सात माह की बच्ची को लेकर बेरीबाग स्थित क्लीनिक पर पहुंचे। इंजेक्शन लगने के आधा घंटे बाद ही बच्ची की मौत हो गई। इस पर परिजनों ने थाना जनकपुरी पहुंच कर हंगामा करना शुरू कर दिया। पुलिस ने कंपाउंडर सहित दो को हिरासत में ले लिया। तहरीर लेकर बच्ची का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।

थाना मंडी के मोहल्ला मूंगागढ़ निवासी रिक्शा चालक दिनेश कुमार की सात माह की बेटी रीत की सोमवार सुबह अचानक तबियत खराब हो गई। दस्त लगने पर उनकी पत्नी ममता बेटी को लेकर बेरीबाग स्थित डा. बीआर धवन क्लीनिक पर पहुंची। आरोप है कि डाक्टर की कुर्सी पर बैठे व्यक्ति ने रीत का चेकअप किया और इंजेक्शन लगाने के बाद दवाई दी। 290 रुपये लेने के बाद बेटी को लेकर मंगलवार को फिर बुलाया। ममता ने बताया कि वह बेटी को लेकर घर पहुंची ही थी कि रीत के बदन में एंठन शुरू हो गई और चंद मिनट बाद ही सांस रूक गई। इस मंजर को देख ममता की चीख निकल गई जिसे सुनकर क्षेत्रवासी भी दौड़ कर आ गए। बच्ची के शव को लेकर सभी थाना जनकपुरी पहुंचे और हंगामा करना शुरू कर दिया। एसओ जितेंद्र कुमार ने स्थिति को भांप कर तुरंत टीम भेज कर क्लीनिक पर मौजूद कंपाउंडर सहित दो को हिरासत में ले लिया, जिसके बाद भीड़ का गुस्सा शांत हो गया। एसओ ने बताया कि दिनेश ने तहरीर दे दी है, मामले की जांच की जा रही है। हिरासत में लिए गए आरोपितों में से एक डिग्रीधारी है जबकि दूसरा कंपाउंडर है, पूछताछ की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस