सहारनपुर (जेएनएन)। प्रमुख सचिव गृह मणि प्रसाद मिश्रा ने कहा कि सहारनपुर हिंसा के पीछे बड़ा षड्यंत्र है। कुछ राजनीतिक व्यक्तियों के नाम प्रकाश में आए हैं, जिसकी गहन जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि जल्द ही षड्यंत्रकारियों को बेनकाब कर दिया जाएगा। उपद्रवियों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा। सचिव ने 34 दिन के भीतर पांच बार हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि इसे लेकर मुख्यमंत्री चिंतित हैं। दावा किया कि भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद को जल्द ही पकड़  लिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि इससे पहले आज सरकारी मशीनरी ने दलित और ठाकुर बिरादरी के लोगों की अलग-अलग मंथन के बाद संयुक्त बैठक में शांति बहाली की। दोनों पक्षों ने बवाल के लिए पुलिस-प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया और शांतिपूर्ण ढंग से साथ-साथ रहने का संकल्प लिया। शब्बीरपुर की आबादी करीब 4500 है। यहां ठाकुरों-दलितों की संख्या बराबर है।

यह भी पढ़ें: सहारनपुर जातीय हिंसा को लेकर अफसरों के सिर फोड़ा ठीकरा, भाईचारे का संकल्प

बेगुनाहों को मिलेगी क्लीनचिट

सचिव ने स्वीकार किया कि शब्बीरपुर में साढ़े तीन घंटे प्रवास के दौरान पता चला कि कुछ बेगुनाहों को भी जेल भेज दिया गया है। बताया कि दिव्यांग वृद्धा के परिवार के तीन व्यक्तियों को सलाखों के पीछे डाल दिया, जबकि 80 साल के एक वृद्ध को भी नामजद किया है। एडीजी मेरठ जोन को बेगुनाहों को क्लीन चिट देने के निर्देश दिए गए हैं। पत्रकार वार्ता में एडीजी कानून व्यवस्था आदित्य मिश्रा, एडीजी मेरठ जोन आनंद कुमार, डीआइजी सुरक्षा विजय भूषण व डीएम-एसएसपी भी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: सहारनपुर को लेकर भिड़ीं भाजपा-बसपा, माया और केशव में आरोप प्रत्यारोप

कार्यप्रणाली में कमी स्वीकारी

मणि प्रसाद मिश्रा ने बेबाकी से स्वीकार किया कि उनकी मौजूदगी में घटना होना कार्यप्रणाली में कमी का सबब है। इसी वजह से डीएम व एसएसपी को निलंबित किया गया। एक सवाल के जवाब में गृह सचिव ने माना कि शासन के आदेश के पालन में यहां कमी नजर आ रही है, जिसे हम अपनी असफलता मानते हैं। गृह सचिव मणिप्रसाद मिश्रा ने सहारनपुर हिंसा में मीडिया की कवरेज को सराहा और बोले कि सभी के सहयोग से अगले 24 घंटे में हालात को सामान्य कर लेंगे। 

तस्वीरों में देखें-इंसेफलाइटिस मिटाने को योगी सरकार का अभियान

Posted By: Nawal Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप