सहारनपुर, जेएनएन : करोड़ों रुपये का बकाया विद्युत बिल जमा नहीं कराने के मामले में निगम द्वारा बुधवार को तहसील क्षेत्र के आठ गांवों की विद्युत आपूर्ति बंद कर दी गई थी, जिसके दूसरे दिन निगम ने फिर से बकाएदारों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जैसे मुहिम छेड़ दी और 11 गांव के 46 सौ उपभोक्ताओं को नोटिस जारी कर दिया। जिनके माध्यम से उन्हें दो दिन के भीतर बकाया बिल जमा कराने की चेतावनी दी गई है। निगम के मुताबिक समय अवधी समाप्त होने के बाद उक्त गांवों की विद्युत आपूर्ति भी बंद कर दी जाएगी।

बुधवार को विद्युत निगम ने तहसील क्षेत्र के न्यामतपुर, नूनाबड़ी, घ्याना, रामनगर, करंजाली, थितकी और बाबूपुर नगली गांव की विद्युत आपूर्ति बंद कर दी थी। निगम के मुताबिक उक्त गांवों में उपभोक्ताओं पर करोड़ों रुपये का बिल बकाया है। नोटिस जारी करने के बाद भी उपभोक्ताओं ने बिल नहीं जमा कराया है। जिसके चलते दो दिन से उक्त गांवों में अंधेरा पसरा है।

वहीं, गुरुवार को घ्याना गांव के लोगों ने तल्हेड़ी बिजली घर पर पहुंच जमकर हंगामा काटा था। ग्रामीणों का आरोप था कि निगम बेवजह से ग्रामीणों को परेशान कर रहा है। गांव के लोग समय पर बिल जमा कराते आ रहे है। उधर, निगम ने तहसील क्षेत्र के तल्हेड़ी खुर्द, तल्हेड़ी बुजुर्ग, मिगरपुर, रणखंडी, भायला, गंगदासपुर, अंबहेटा शेखां, भनहेड़ा, गोपाली, चंदेना कोली, अमरपुर नैन समेत 11 गांव के 46 उपभोक्ता को नोटिस जारी कर दो दिन के अंदर बकाया बिल जमा कराने की चेतावनी दी है। निगम के मुताबिक उक्त गांवों पर लगभग 16 करोड़ रुपये के आस-पास बिल बकाया है।

इस संबंध में एसडीएम अमित त्यागी ने बताया कि दो दिन के अंदर अगर उक्त गांवों के उपभोक्ताओं ने बिजली के बिल नहीं जमा कराए तो गांवों की विद्युत आपूर्ति बंद की जाएगी। आपूर्ति बंद करने के लिए पुलिस फोर्स की मांग की जा रही है।

सात गांवों में पसरा है अंधेरा

बुधवार को निगम ने न्यामतपुर, नूनाबड़ी और घ्यान गांव समेत 7 गांवों की विद्युत आपूर्ति बंद की थी, जिसके चलते उक्त गांवो ंमें रात्रि से ही अंधेरा पसरा पड़ा हुआ है। बिजली नहीं आने से लोगों को समस्या हो रही है। घ्याना गांव अमित कुमार, सुमति, हरीओम आदि ने बताया कि निगम का रवैया सरासर गलत है, क्योंकि गांव में अधिकतर लोगों ने बिल जमा करा रखे है, लेकिन दो चार बकाएदारों के लिए पूरे गांव की विद्युत आपूर्ति काटना ठीक नहीं है।

इन्होंने कहा..

विद्युत निगम किसान और ग्रामीणों के खिलाफ तानाशाही रवैया अपना रहा है। साजिश के तहत प्रदेश सरकार की छवि खराब की जा रही है। किसान संघ निगम की इस कार्रवाई का विरोध करता है। मुख्यमंत्री से मुलाकात कर वह किसानों और ग्रामीणों की समस्या से अवगत कराएंगे।

-श्यामबीर त्यागी, प्रदेश संयोजक किसान संघ प्रदेश सरकार किसान और ग्रामीणों के खिलाफ कार्य कर रही है। निगम की कार्रवाई उद्योगपतियों और बड़े घराने के खिलाफ क्यों नहीं होती। पांच हजार रुपये के बकाएदार किसानों की बिजली आपूर्ति बंद करना गलत है। भाकियू इसका सड़कों पर उतर विरोध करेगा।

-चौधरी विनय कुमार, प्रदेश उपाध्यक्ष भाकियू।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस