जागरण संवाददाता, सहारनपुर: मंदिर से घर जा रही वृद्धा को दो युवकों ने पुलिसकर्मी बनकर ठग लिया। सरकार द्वारा सोने के जेवर पहनने पर पाबंदी की बात कहकर फटाफट कंगन और अंगूठी उतारकर रखने को कहा। महिला से नजर बचाकर ठगों ने उनके असली जेवरों को नकली से बदल दिया। थाना सदर बाजार पुलिस ने तहरीर लेकर ठगों की तलाश शुरू कर दी है।

बुधवार सवेरे डीएसओ कंपाउंड निवासी बीएम जैन की पत्नी आशा जैन मंदिर गई थीं। मंदिर से लौटते वक्त आशा जैसे ही कालोनी के बाहर पहुंचीं तो दो युवक उनके पास आए। खुद को पुलिसकर्मी बताते हुए आशा से कहा कि सरकार ने जेवर पहनने पर पाबंदी लगा दी है इसलिए इन्हें उतार दीजिए। युवकों की बातों में आकर महिला ने वहीं पर अपने दोनों कड़े उतारने शुरू किए लेकिन वह उतर नहीं रहे थे। इस पर ठगों में से एक युवक ने तेल की शीशी निकाली और महिला की कलाई में तेल लगाकर दोनों कड़े उतरवा लिए। साथ ही हाथ की अंगूठी उतरवाई। इसके बाद कड़े और अंगूठी को अखबार के एक टुकड़े में लपेटकर आशा जैन को सौंप दिया। घर जाकर आशा जैन ने पूरी बात अपने पति व बेटे विनय को बताई तो वह भौचक्के रह गए। अखबार खोलकर देखा तो उसमें असली जेवर गायब थे, सिर्फ दो आर्टिफिशियल कंगन ही थे। पीड़िता ने ठगे गए गहनों की कीमत ढाई लाख रुपये बताई है। इंस्पेक्टर सदर बाजार यज्ञदत्त शर्मा ने बताया कि तहरीर ले ली है। ठगों के हुलिए के अनुसार उनकी तलाश शुरू कर दी है।

Edited By: Jagran