रामपुर मनिहारान (सहारनपुर) : तेज हवा के साथ आई बारिश ने क्षेत्र में गेहूं की तैयार फसल गिर गई। वहीं आम के बागों में हवा ने आम के पेड़ों पर जमे कोहर को काफी नुकसान पहुंचा।

सोमवार की रात अचानक चली हवा से जीवन अस्त व्यस्त हो गया। लगातार 6 घंटे चली तेज हवा से क्षेत्र के कई गांवों में तैयार खड़ी गेहूं की फसल गिरी नजर आई, तेज हवा से आम के बागों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। आम के बागों में कोहर जमा हुआ है तथा पेड़ों पर आम भी आना शुरू हो गए हैं। तेज हवा से आम के बागों में पेड़ पर जमे कोहर व आ चुके आम को काफी नुकसान पहुंचा।

मौसम बदलने से किसानों की बढ़ी चिता

संवाद सहयोगी, गंगोह: बदल रहा मौसम किसानों की चिता बढ़ा रहा है। मंगलवार तड़के मौसम ने करवट बदली तथा हल्की बूंदाबांदी से किसान परेशान हैं। तेज हवा के कारण बिजली आपूर्ति ठप होने से लोग रात भर अंधेरे में रहे।

इस समय किसान अपने खेतों में खड़ी गेहूं की फसल को समेटने में लग गया है। चार दिन से बढ़ी गर्मी के बाद मौसम को देखते हुए तेजी से फसल काटने में किसान जुट गए थे। अभी तक क्षेत्र में फसल की कटाई पूरी तरह जोर भी नहीं पकड़ पाई कि मौसम के बदलाव ने ब्रेक लगाने की कोशिश कर दी। रात में चली तेज हवा ने अपना काम कर दिया। बिजली के तार टूटने से पूरे नगर की आपूर्ति ठप हो गई। रात भर लोगों को अंधेरे में ही रहना पड़ा। मंगलवार सुबह हल्की बूंदाबांदी के बाद भी बादल घूमते रहे। इस समय किसानों को तेज हवा व बारिश का डर ही सता रहा है। यदि मौसम सही रहा तो दस दिन में अधिकांश फसल किसान समेट लेंगे।

संसू, छुटमलपुर: मौसम की बेरुखी से किसानों के माथे पर चिता की लकीरें उभर रही है। सोमवार रात्रि से चल रही तेज हवा व आकाश में छाए बदलों से किसानों के दिल की धड़कने लगातार बढ़ रही है और उन्हें खेतों में पककर तैयार हो चुकी गेहूं की फसल के खराब होने की चिता सता रही है।

आकाश में सोमवार रात से घने काले बादलों का डेरा है और कुछ समय के अंतराल पर तेज हवाएं चल रही है। मंगलवार को भोर के समय क्षेत्र में हल्की बूंदाबंदी भी हुई। गेहूं की फसल पककर तैयार हो चुकी है और कटाई का काम भी चल रहा है। भाकियू जिला प्रवक्ता चौधरी रघुवीर सिंह, चौबारा के राव गुलजार, गन्ना समिति के पूर्व चेयरमैन ठा. जसबीर सिंह, मीरपुर के सोबेन्द्र कंबोज व गंदेवडा के मो अय्यूब आदि किसानों का कहना है कि इस समय थोड़ी वर्षा भी गेहूं के लिए नुकसान देह साबित हो सकती है।

संसू, महंगी: मंगलवार सुबह हुई बूंदाबांदी से खेतों में खड़ी गेहूं में नमी की मात्रा बढ़ गई है। जिससे गेहूं कटाई प्रभावित हो गई।

रोज बदल रहे मौसम से किसान परेशान हो गया है। मंगलवार सुबह आई तेज आंधी में बूंदाबांदी से किसानों के गेहूं की खेतों में कटी हुई फसल भीग गई। दूसरी तरफ खेतों में गेहूं की कटाई भी रुक गई हैं। किसानों का कहना है कि इस बेमौसम बारिश से किसानों को नुकसान ही उठाना पड़ेगा। पिछले दिनों धान की फसल भी बारिश की भेंट चढ़ गई थी। बता दें कि किसान फसल को उठाने के लिए खेतों में दिन-रात कार्य कर रहा है। किसानों ने कहा कि अगर अत्यधिक बारिश हुई गेहूं की खेती खराब होने की संभावना है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप