सहारनपुर: शिक्षा की डगर पर सहारनपुर जल्द रफ्तार पकड़ेगा। जनपद में विवि स्थापना पर मुख्यमंत्री ने ना केवल स्वीकृति दे दी है, बल्कि जिला प्रशासन को हर संभावना तलाशने एवं कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। योगी ने मेडिकल कॉलेज का नाम बदलने पर पूर्ववर्ती सरकार पर निशाना साधा।

एक दशक से सहारनपुर में विवि स्थापना की मांग जल्द सिरे चढ़ने की उम्मीद बलवती हो गई है। महाराज ¨सह कालेज के प्राचार्य रहे डा.केके शर्मा ने एक दशक पूर्व यहां विवि की स्थापना के प्रयास शुरू किए थे। राज्यपाल और तत्कालीन सरकार के पास कई बार जनप्रतिनिधियों के माध्यम से व कई बार सीधे ज्ञापन भेजे। हर चुनाव में विवि की स्थापना मुद्दा तो बना, लेकिन मांग को परवान चढ़ाने के लिए गंभीरता से प्रयास ही नहीं किए गए। योगी सरकार बनने के बाद एक बार जनप्रतिनिधि फिर सक्रिय हुए। कई बार शिक्षामंत्री और मुख्यमंत्री से मिलकर ज्ञापन सौंपे गए और विवि स्थापना की मांग की गई। 2019 में फिर से सत्ता पाने की ललक में स्थानीय भाजपा नेताओं को विवि की स्थापना एक अच्छा मौका लगता है।

हाईवे के शिलान्यास के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला प्रशासन को विवि की स्थापना की कार्ययोजना तैयार करने की बात कहकर एक दशक से चली आ रही मांग पूरी करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम आगे बढ़ाया है। उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश भी दिया कि उन सभी संभावनाओं को तलाश करें, जिससे यहां एक अच्छा विवि स्थापित हो सके। पूर्ववर्ती सपा सरकार का निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें केवल मेडिकल कालेज का नाम बदलने की जल्दी थी। जनभावनाओं से उन्हें कोई मतलब नहीं था। हमारी सरकार जनभावनाओं का सम्मान करेगी। जनता का अभिवादन स्वीकारते हुए मुख्यमंत्री ने बड़ा संदेश दिया कि वह जल्द फिर यहां आएंगे। बताते चलें कि बसपा सरकार के कार्यकाल में अंबाला रोड पर मान्यवर कांशीराम मेडिकल कालेज बनवाया गया था। वर्ष-2012 में सपा सरकार ने कालेज का नाम बदलकर मौलाना शेखुल ¨हद महमुदुल हसन मेडिकल कालेज कर दिया था।

Posted By: Jagran