सहारनपुर, जेएनएन: मंडलायुक्त लोकेश एम ने विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अवस्थापना निधि का शत-प्रतिशत प्रयोग जनता की सुविधाओं के लिए किया जाए। अवस्थापना निधि का दुरुपयोग किसी भी स्तर पर क्षम्य नहीं होगा। इस दौरान महानगर के सुनियोजित विकास के लिए 628 लाख की स्वीकृति दी गई।

सहारनपुर विकास प्राधिकरण की अवस्थाना निधि समिति की अपने कार्यालय में बैठक के दौरान मंडलायुक्त निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि घंटाघर से देहरादून चौक की ओर जाने वाली रोड़ पर स्थित तथा जनता रोड से नुमाइश कैंप पुलिस चौकी के बीच ढमोला नदी पर स्थित पुलों का सुंदरीकरण कराया जाए। उन्होंने सदर थाना तिराहे के चौड़ीकरण के निर्देश दिए। सेंट्रल पार्क कालोनी के दूसरे गेट से इंद्रप्रस्थ कालोनी तिराहे तक सीसी सडक व इंटरलाकिग टाइल्स लगाई जाएं। चौ. चरण सिंह चौक से तिकोनी कोठी तक मुख्य मार्ग के दोनों ओर टाईल्स लगाने, सीएमएस कोठी से रिमाउंट डिपो तक सीसी सड़क का निर्माण कराया जाए। जनता रोड पर पुलिस चौकी से भारत माता चौक तक डीबीएम व बीसी एवं भारत माता चौक का चौड़ीकरण का चौड़ीकरण किया जाए। पुलिस लाईन के स्टेडियम में स्टील ट्रस के साथ शेड लगायी जाए।

मंडलायुक्त ने निर्देश दिए कि शासन द्वारा कैच-द-रेन अभियान के अंतर्गत लक्ष्य की पूर्ति की जाए। विभिन्न शासकीय एवं अ‌र्द्धशासकीय भवनों पर रेनवाटर हार्वेस्टिग सिस्टम की स्थापना की जाए। उन्होंने कहा कलेक्ट्रेट कार्यालय, जिला उद्योग केंद्र, सेवायोजन कार्यालय एवं राजकीय इंटर कालेज में रेनवाटर हार्वेस्टिग की व्यवस्था तत्काल सुनिश्चित कराई जाए। उन्होंने कहा शिवविहार कालोनी मे पूर्व निर्मित सड़क के दोनों ओर नाली का निर्माण एवं इंटरलाकिग टाईल्स लगाने का कार्य शीघ्रता से करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि दिल्ली रोड़ पर ग्राम मोहम्मदपुर माफी बैरून के खसरा संख्या 62 मे स्थित तालाब का जीर्णोद्धार एवं सौन्दर्यीकरण किया जाना सुनिश्चित करें। बैठक जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, नगर आयुक्त ज्ञानेंद्र सिंह, अपर आयुक्त प्रशासन डीपी सिंह, विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष आशीष कुमार सहित कई अधिकारी उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran