जासं, रामपुर : उप निदेशक कृषि नरेंद्र पाल ने बताया कि जनपद में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत एक लाख आठ हजार किसानों को लाभान्वित किया जा चुका है। कुछ कृषक ऐसे हैं, जिनके द्वारा काफी समय पूर्व पंजीकरण करा लिया गया था। उनमें से कुछ किसानों के खातों में दो किस्तें तक आ भी गई हैं तथा कुछ किसानों के खातों में धनराशि नहीं आ पाई है।

ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि उन कृषकों द्वारा दिए गए बैंक खाता संख्या गलत है अथवा उन्होंने किसी दूसरे व्यक्ति का खाता संख्या नोट करवा दी है या फिर आईएफएससी कोड गलत दिया गया है। इसके अलावा कई कृषकों द्वारा पंजीकरण के समय ज्वाइंट खाता लगा दिया गया था तथा कुछ ने केसीसी खाता लगाया है। इस कारण ऐसे खातों में धनराशि भेजने की कार्यवाही नहीं हो पा रही है। उन्होंने कहा है कि वे किसान इन समस्याओं के समाधान के लिए बैंक के माध्यम से अपना जनधन खाता या बचत खाता आधार कार्ड से लिक कराते हुए केवाइसी की शर्तें भी पूर्ण करा लें। इस बात का विशेष ध्यान रखें कि इस योजना में संयुक्त खाता अथवा केसीसी खाता मान्य नहीं है। आधार कार्ड से जो खाता लिक होगा उस खाते में धनराशि स्वत: ही चली जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस