रामपुर, जेएनएन। जमीन कब्जाने के मुकदमों में फंसे सांसद आजम खां के खिलाफ शहर कोतवाली और गंज पुलिस ने सात नोटिस जारी किए हैं। इनके साथ ही पूर्व सीओ सिटी आले हसन खां को भी नोटिस जारी किया गया है। आजम खां के बेटे विधायक अब्दुल्ला और डीसीबी के पूर्व चेयरमैन सलीम कासिम को भी अन्य मुकदमों में पूछताछ के लिए नोटिस जारी हुए हैैं। 

यह है पूरा मामला 

सांसद आजम खां के खिलाफ जमीन कब्जाने के आरोप में 40 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीन कब्जाने के आरोप में ही 30 मुकदमे दर्ज कराए जा चुके हैं। इनकी जांच एसआइटी कर रही है।  शहर कोतवाली में तो यतीमखाना प्रकरण में उनके खिलाफ मकान तोडऩे, कब्जा करने, हत्या, भैैंस चोरी, गाय चोरी, बकरी चोरी के भी मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस इन सभी मामलों की जांच में जुटी है। उन्हें सात नोटिस जारी किए गए हैं। एक नोटिस शहर कोतवाली पुलिस, जबकि छह नोटिस गंज पुलिस ने जारी किए हैं। गंज कोतवाल रामवीर ङ्क्षसह ने बताया कि आजम खां, पूर्व सीओ सिटी आले हसन खां, फसाहत अली खां शानू के खिलाफ भी नोटिस जारी किए गए हैं। 

विधायक अब्दुल्ला आजम को भी नोटिस

एक मामले में विधायक अब्दुल्ला आजम को भी नोटिस दिया है। सभी मामलों में एक सप्ताह के अंदर बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया है। आले हसन खां को उनके रामपुर, बुलंदशहर और दिल्ली के पते पर नोटिस डाक से भेजे गए हैं। शहर कोतवाली पुलिस ने जो नोटिस जारी किया है, उसमें इस्लाम ठेकेदार, वीरेंद्र गोयल भी शामिल हैं। दूसरी ओर एसआइटी ने जौहर यूनिवर्सिटी की जमीनों के संबंध में पूछताछ के लिए जिला सहकारी बैंक के पूर्व चेयरमैन सलीम कासिम को नोटिस जारी कर 30 नवंबर को तलब किया है। सलीम कासिम यूनिवर्सिटी को संचालित करने वाले मौलाना मोहम्मद अली जौहर ट्रस्ट के सदस्य हैं। 

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस