जागरण संवाददाता, बिलासपुर : केमरी तिराहे पर धान की फसल से भरी ट्रैक्टर ट्रालियों के फंसने की वजह से सात घंटे तक जाम लगा रहा। जाम में स्कूली बसों के फंसने से बसों में सवार छात्र-छात्राओं को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उधर पुलिस अधीक्षक का काफिला जाम में फंसने पर पुलिस में हड़कंप मच गया। पुलिस ने जैसे-तैसे एसपी के काफिले को जाम से निकलवाकर राहत की सांस ली। नगर में रोजाना जाम लगने का क्रम रुक नहीं पा रहा है। सोमवार सवेरे लगभग दस बजे केमरी तिराहे के पास धान की फसल से भरी ट्रैक्टर ट्रालियों के फंसने के जाम की स्थिति बनी रही। रामपुर मार्ग पर रुद्रपुर से दिल्ली जा रही कार अचानक खराब होते ही नैनीताल हाईवे पर जाम लग गया। कार को दूसरी गाड़ी में रस्सी बांधकर मार्ग से हटवाया गया। छोटे वाहन चालकों द्वारा आगे निकलने की आपाधापी के बीच वाहनों को आड़ा-तिरछा खड़ा करने पर हाईवे पर वाहनों की चार-चार कतारें लग गईं। इस दौरान मुख्य चौराहा, रामपुर-नैनीताल हाईवे, माटखेड़ा मार्ग, सिनेमा रोड, पुरानी तहसील मार्ग, कैनाल मार्ग, पोस्ट आफिस मार्ग, केमरी मार्ग समेत नगर के विभिन्न मार्गों पर जाम की स्थिति बनी रही। जाम के चलते पैदल यात्रियों का भी निकालना दूभर हो गया। दोपहर को पुलिस अधीक्षक शिव हरी मीना केमरी से नगर पहुंचे। इस दौरान एसपी का भी काफिला जाम में फंसने पर पुलिस में हड़कंप मच गया। बाद में पुलिस ने किसी तरह पुलिस अधीक्षक के काफिले को जाम से निकलवाकर राहत की सांस ली। इसके पश्चात पुलिस ने वनवे ट्रैफिक व्यवस्था करके वाहनों को गुजारने से पूर्व नैनीताल हाईवे पर करीब सात घंटे से अधिक समय तक जाम लगने से यात्रियों समेत छात्र-छात्राओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सायंकाल तक वाहनों का रेंग-रेंगकर गुजरने का क्रम जारी था। उधर नगर में रोजाना लगने वाले जाम से नगरवासियों को कतई छुटकारा नहीं मिल पा रहा है। राज्यमंत्री बल्देव ¨सह औलख अतिक्रमण एवं जाम की समस्या पर कई बार ¨चता प्रकट कर चुके हैं। इसके बावजूद भी अधिकारी राज्यमंत्री के आदेशों को हवा में उड़ा रहे हैं। अधिकारियों पर राज्यमंत्री के आदेशों का कोई असर नहीं हो रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप