Move to Jagran APP

रामपुर में लव जेहाद : नाम बदलकर छात्रा से दोस्ती, फिर सामूहिक दुष्कर्म

में लव जिहाद का मामला सामने आया है। यहां पर एक युवक ने नाम बदलकर पहले छात्रा से दोस्ती की और फिर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया।

By Dharmendra PandeyEdited By: Published: Sun, 17 Jun 2018 10:48 AM (IST)Updated: Sun, 17 Jun 2018 03:26 PM (IST)
रामपुर में लव जेहाद : नाम बदलकर छात्रा से दोस्ती, फिर सामूहिक दुष्कर्म

रामपुर (जेएनएन)। समाजवादी पार्टी के फायरब्रांड नेता आजम खां के क्षेत्र रामपुर में लव जिहाद का मामला सामने आया है। यहां पर एक युवक ने नाम बदलकर पहले छात्रा से दोस्ती की और फिर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया। इसके बाद साथ रहने के लिए कहने पर उस पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया। इस दौरान परिवार के अन्य लोगों ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया। इस गंभीर मामले में पीडि़ता की शिकायत पर मुरादाबाद के युवक और उसके परिवार के खिलाफ बिलासपुर कोतवाली में मुकदमा हुआ है।

रामपुर की रहने वाली एक युवती तीन वर्ष पहले मुरादाबाद के एक डिग्री कॉलेज में पढ़ती थी और एक इंग्लिश स्पीङ्क्षकग इंस्टीट्यूट में कोर्स करती थी। उसके कॉलेज के बाहर राज शेयर मार्केटिंग के नाम से दुकान थी। वहां बैठने वाला युवक उसे आते-जाते देखता था। उसका पीछा करते हुए वह इंगलिश स्पीकिंग इंस्टीट्यूट तक पहुंच गया और एडमिशन ले लिया। आरोप है कि उसने युवती से दोस्ती बढ़ानी शुरू कर दी। उसने अपना नाम राज विश्नोई बताया। युवती के मुताबिक वह हाथ पर कलावा बांधता था। उसके साथ मंदिर भी जाने लगा और पूजा करने लगा। इसके चलते उसे कभी शक नहीं हुआ।

दोनों की दोस्ती प्यार में बदल गई। 15 अगस्त 2015 को उसने युवती के साथ दुष्कर्म किया। युवती रोने लगी तो शादी करने का झांसा दिया। इसके बाद कई बार उसने शादी का झांसा देकर युवती से दुष्कर्म किया। युवती गर्भवती हो गई तो शादी करने की बात कहकर गर्भ निरोधक गोलियां खिला दीं। दो अक्टूबर 2015 को युवक उसे हरिद्वार ले गया और एक मंदिर में शादी कर ली। शादी के बाद भी वह उसे अपने घर नहीं ले गया। यह कहकर टाल दिया कि कुछ दिन अपने घर से आती जाती रहना। मैं जल्द ही अलग मकान ले लूंगा। तब तुम्हें वहां रखूंगा।

युवती उसकी बात मान गई, लेकिन उसके देर से घर आने पर परिवार के लोगों को शक हो गया। उन्होंने सख्ती से पूछताछ की तो युवती ने सब बता दिया। युवती के परिवार के लोगों ने युवक को बुलाकर बात की। परिजनों ने उन्हें बेटी को ससुराल ले जाने के लिए कहा तो उसने यह कहकर टाल दिया कि अभी मेरे घर वाले राजी नहीं है। कुछ दिन किराये के मकान में रहने के बाद घर जाएंगे।

इस पर वह युवती को मुरादाबाद ले आया और पीएसी के पास किराये के मकान में चार माह तक रखा। एक दिन युवक का भाई वहां आ गया, तब युवती घर पर अकेली थी। तब राज विश्नोई के दूसरे संप्रदाय के होने का भेद खुल गया। उसने जिस राज से शादी की थी, वह सरफराज हुसैन था। इसके बाद भी बदनामी के डर और परिवार की इज्जत की खातिर युवती उसके साथ रहने को तैयार हो गई, लेकिन युवक ने धर्म परिवर्तन करने की शर्त रख दी, जिसे युवती ने मानने से मना कर दिया।

युवती ने कानूनी कार्रवाई का डर दिखाया, जिसके बाद युवक उसे अपने घर ले जाने को तैयार हो गया। उसने फरवरी 2017 में निकाहनामा बनाया और उसे अपने घर मझोला थाना क्षेत्र के भोला सिंह मिलक ले आया। यहां ससुरालियों ने उस पर अत्याचार किए। उसे जबरन धर्म परिवर्तन पर मजबूर किया गया। मना करने पर ससुरालियों ने मारपीट की। आरोप है कि युवक के पिता और बहनोई एक मौलवी को ले आए। तीनों ने उसके साथ वहां पर कई बार दुष्कर्म किया।

कोतवाल शैलेंद्र पाल सिंह ने बताया कि युवक समेत उसके पिता इजहार हुसैन, मां शकीला, भाई जाफर हुसैन सहित सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.