जागरण संवाददाता, मिलक : मुहल्ला नसीराबाद में जापानी बुखार से किशोर की मौत का समाचार गुरुवार को अखबारों में प्रमुखता से प्रकाशित होने पर स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। सीएमओ के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम मृतक किशोर के घर पहुंची और उसके परिजनों समेत मुहल्ले के दो दर्जन से अधिक लोगों के खून की स्लाइड बनाईं। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने परिजनों और मुहल्लेवासियों से अपने आसपास साफ-सफाई रखने, पानी का जमावड़ा न होने देने, नालियों में गंदगी न फैलाने और कूलर व पुराने टायर आदि में पानी का जलभराव न होने की सलाह दी। कहा कि अगर किसी व्यक्ति को बुखार आ रहा है तो वह तत्काल निकट सरकारी अस्पताल में अपना इलाज कराए। गुरुवर सुबह 11 बजे सीएमओ सुबोध शर्मा के साथ एडिशनल सीएमओ डॉक्टर वेग, पीएचसी प्रभारी डॉ. मोहित रस्तोगी, फार्मासिस्ट अभिनेंद्र सिंह और लैब टेक्नीशियन सोनू कुमार मृतक किशोर के घर पहुंचे। किशोर के परिजनों के खून के सेंपल लिए। मुहल्ले में रहने वाले 18 अन्य व्यक्तियों के खून के सेंपल लिए। सीएमओ ने बताया कि जितनी भी व्यक्तियों की खून की स्लाइड बनाई गई थीं, सभी की सभी निगेटिव पाई गई हैं। मुहल्ले के गांधी पार्क में स्वास्थ्य विभाग की टीम शुक्रवार को शिविर लगाएगी। बुखार पीड़ितों के खून की निश्शुल्क जांच और दवाइयां वितरित की जाएंगी। मुहल्ला नसीराबाद निवासी जाकिर हुसैन के 14 वर्षीय पुत्र साहिल हुसैन को सात दिन पूर्व तेज बुखार आया था। उसे बरेली के अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां से उसे दिल्ली रेफर कर दिया गया था। सात दिन तक चले इलाज के दौरान उसकी बुधवार की सुबह दिल्ली के अस्पताल में मौत हो गई थी। परिजनों ने उसकी मौत जापानी बुखार से होना बताया था। इससे विभाग में हड़कंप मच गया। गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम मृतक किशोर के घर पहुंची। उसके परिजनों व मुहल्लावासियों के खून के सेंपल लिए। मुहल्ले में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने स्वास्थ्य शिविर लगाकर निश्शुल्क खून की जांच व दवाइयां वितरित कीं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप