मिलक : गत वर्षों की भांति इस वर्ष भी गणेश चतुर्थी महोत्सव धूमधाम से मनाने का निर्णय लिया। शुक्रवार को दीपक मराठा के आवास पर बैठक हुई। वक्ताओं ने बताया कि बरसात के मौसम को देखते हुए श्री गणेश चतुर्थी महोत्सव नवदिया रोड के निकट रंगोली मंडप में मनाया जाएगा। महोत्सव 13 सितंबर से 18 सितंबर तक बड़े ही धूमधाम से मनाया जाएगा। 13 सितंबर दिन गुरुवार को नगर में श्री गणेश जी महाराज की शोभायात्रा रंगोली मंडप से निकाली जाएगी। शोभायात्रा मुख्यमार्गों तीनबत्ती चौराहा, पटवाई रोड, हरिजन बस्ती, होली चौराहा से होते हुए रंगोली मंडप पर समाप्त होगी। शोभायात्रा के उपरांत श्री गणेश जी महाराज की प्रतिमा को विधिवत पूजन आराधना के साथ रंगोली मंडप में स्थापित किया जाएगा। 14 सितंबर से 16 सितंबर तक रोजाना सुबह और रात आठ बजे मूर्ति का पूजन, भजन संध्या और महाआरती का कार्यक्रम होगा। रोजाना रात आठ बजे बाहर से आए कलाकारों द्वारा भजन झांकी आदि भजन संध्या के समय प्रस्तुत की जाएंगी। 17 सितंबर रात आठ बजे श्री गणेश जी महाराज का रात्रि जागरण होगा, जिसमें हल्द्वानी, फरीदाबाद और दिल्ली के कलाकारों द्वारा भजन प्रस्तुत किए जाएंगे तथा मनमोहक झांकियों का प्रदर्शन किया जाएगा। अगले दिन प्रात: चार बजे महाआरती के पश्चात भक्तों में प्रसाद बांटा जाएगा। सुबह सात बजे दिन मंगलवार 18 सितंबर को महायज्ञ होगा। उसी दिन बाद में श्री गणेश जी महाराज की मूर्ति का विसर्जन यात्रा रंगोली मंडप से शोभायात्रा के रुप में नगर के प्रमुख मार्गों से होती हुई राजघाट ले जाई जाएगी। संचालन सुशील गुप्ता और अध्यक्षता महेंद्र रस्तोगी ने की।

Posted By: Jagran